कटिहार, जेएनएन। रक्षाबंधन के पावन पर्व को भाई और बहन के बीच आपसी प्रेम और विश्वास का त्यौहार माना जाता है। इस त्यौहार पर बहन अपने भाई की लंबी उम्र की कामना करते हुए उसके कलाई में रक्षासूत्र बांधती है और भाई अपनी बहन को रक्षा का वचन देते हुए उसे कुछ उपहार भेंट करता है। परंतु हसनगंज प्रखंड के रामपुर पंचायत में एक भाई ने इस पावन त्यौहार पर बहन के ससुराल में शौचालय बनवाकर एक नायाब उदाहरण पेश किया है। जो अन्य लोगों के लिए भी प्रेरणा प्रदान करने वाला है।

तीन बहनों के एकलौता मल्लिका देवी के बड़े भाई जलालगढ़ निवासी गणेश प्रसाद जमादार ने बताया कि अपने बहन के ससुराल रामपुर घूमने आए और बहन के घर शौचालय नही रहने से बहन को इससे होने वाली परेशानी को देख बहन की इस परेशानी को दूर करने का विचार आया और रक्षाबंधन पर अपनी बहन के प्रति सम्मान व प्यार स्वरूप शौचालय भेंट कर बहन को समस्याओं से निजात दिलवाए जिसके लिए स्वच्छ भारत मिशन के तहत जीविका से भी मदद मिला।

वहीं बहन इस उपहार से काफी खुश है। कहती है टिन छप्पर वाला घर तो बनवा ली पर आर्थिक कमी के कारण शौचालय नही बनवा पाई जब बड़े भैया मेरे घर आये और शौचालय नही देखें तो उन्होंने शौचालय बनवाकर रक्षाबंधन पर उपहार दीए।

प्रखंड परियोजना पदाधिकारी हिमांशु शेखर बताते हैं कि प्रधानमंत्री जी का स्वच्छ भारत मिशन गांव,कस्बो में एक क्रांति का रूप ले रही है। लोग शौचालय के महत्व को समझमे लगे हैं। और इस तरह के पर्व,त्यौहारों में उपहार स्वरूप शौचालय भेंट करना निश्चित तौर पर काबिले तारीफ है। इस तरह का उपहार दूसरों के लिए भी प्रेरणादायक है।

Posted By: Kajal Kumari