पटना [जेएनएन]। छपरा के रहने वाले एक टीचर के बैंक एकाउंट में अचानक 99 लाख रुपये आ गये। यह सुनकर तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था। जब ये बात उन्हें पता चली तो उस वक्त वे पटना के  पीएमसीएच में एक रिश्तेदार का इलाज कराने गये थे।

अचानक उनके मोबाइल पर मैसेज आया कि वो 99 लाख रुपये के मालिक हो गए हैं। यह सुनते ही उन्होंने भगवान को शुक्रिया किया और तुरत अपनी नवविवाहिता पत्नी संध्या को इसकी सूचना दी तो पत्नी ने ईश्वर को धन्यवाद देते हुए कहा कि सबसे पहले मुझे तुम हार खरीदकर देना।।

अपनी पत्नी की डिमांड पूरी करने के लिए जब गुरुजी एटीएम से रुपये निकालने गये तो पता चला कि खाता तो होल्ड है। कई बार प्रयास करने के बाद भी उनके रुपये नहीं निकले तो उन्होंने एटीएम से मिनी स्टेटमेंट निकाला तब पता चला कि खाते से रुपये की निकासी पर रोक है।

यह वाकया शहर के दलदली बाजार निवासी व जलालपुर स्थित हाईस्कूल के शिक्षक सुनील कुमार के साथ रविवार की शाम घटी है। गुरुजी ने बताया कि उनका खाता भगवान बाजार स्थित स्टेट बैंक में है। जब वो इसकी जानकारी लेने बैंक पहुंचे तो बैंक प्रबंधन ने खाते में 99 लाख रुपये आने के बारे में बताया कि यह रुपया माइनस में है। पैन नंबर नहीं देने के कारण खाते को होल्ड कर दिया गया है।

इसके बाद शिक्षक अपने को कोसते हुए घर लौट गये। पत्नी को जानकारी दी तो वह भी मन मसोस कर रह गयी। मालूम हो कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने जिले के करीब दस हजार खातों को होल्ड करते हुए जमा-निकासी पर पूरी तरह से रोक लगा दी है।

बताया-क्षेत्रीय प्रबंधक ने 

बैंक ने केन्द्र सरकार व रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से मिले दिशा-निर्देश के बाद ऐसा किया है। पैन नंबर जमा कर देने के बाद खाता को होल्ड से मुक्त कर दिया जा रहा है। उपभोक्ताओं को पैन नंबर देना जरूरी है।

- आनंद विक्रम, क्षेत्रीय प्रबंधक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया

By Kajal Kumari