पटना । शराब तस्करों के लिए पीएमसीएच सुरक्षित ठिकाना बना हुआ है। गुरुवार की देर रात एक बार फिर अस्पताल के राजेंद्र सर्जिकल ब्लॉक से पुलिस ने 40 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद की। यह बोरे में छज्जे के ऊपर छिपाकर रखी गई थी। पीएमसीएच टीओपी प्रभारी अमित कुमार ने बताया कि पीरबहोर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। शराब हरियाणा निर्मित है। यह कब और किसके द्वारा लाई गई इसकी जानकारी जुटाई जा रही है।

बुधवार की देर रात पुलिस को सूचना मिली कि पीएमसीएच परिसर में शराब तस्करी का खेल चल रहा है। पुलिस ने सादे लिबास में परिसर में चौकसी बढ़ा दी। यह पुख्ता जानकारी भी मिली कि शराब परिसर से कहीं बाहर जाने वाली है। हालांकि यह कहां छिपाकर रखी गई है इसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही थी।

गुरुवार की देर रात करीब एक बजे टीओपी प्रभारी अमित को शराब छिपाने की सूचना मिली। वह टीम के साथ राजेंद्र सर्जिकल ब्लॉक के अंदर रखे सामान की जांच करने लगे। करीब एक घंटे बाद ब्लॉक के बाहर कूड़े के ढेर के पास बने छज्जे पर एक बोरा दिखा। पुलिस ने बोरे को खोला तो दंग रह गई। उसमें 40 बोतल शराब मिली। हालांकि इसमें किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी।

: तीसरी बार मिली शराब, तस्कर एक नहीं :

छह माह पूर्व भी पीएमसीएच परिसर में पुलिस ने 18 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद की थी। इस मामले में भी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई थी। वहीं 15 दिन पूर्व गेट नंबर दो के पास ओपीडी गली में बोरे में 17 बोतल शराब मिली थी। पुलिस सूत्रों की मानें तो शराब गंगा के उस पार से मंगाई जा रही है। इसमें कुछ कर्मियों की मिलीभगत से भी इंकार नहीं किया जा सकता है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस