पटना [जेएनएन]। राजधानी पटना में 16 से 19 फरवरी तक होने वाले राष्ट्रमंडल संसदीय संघ के छठे सम्मेलन में छह विदेशी प्रतिनिधियों के साथ करीब 39 लोगों ने आने पर सहमति जताई है।  पटना जिला प्रशासन अतिथियों के भव्य स्वागत की तैयारी में जुटा है। प्रत्येक अतिथि के साथ एक लाइजनिंग और एक पुलिस अफसर की तैनाती की जाएगी। प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर ने सोमवार को तैयारियों की समीक्षा की।

उन्होंने कहा कि बिहार को देश-विदेश में अपनी ब्रांडिंग का एक और मौका मिला है। अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि गुरु गोविंद सिंह के 350वें प्रकाश वर्ष की तरह इस आयोजन को यादगार बनाया जाए।

आयोजन की तैयारियों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी कुमार रवि ने कहा कि मेहमानवाजी में किसी प्रकार की कमी नहीं होनी चाहिए। विधि और यातायात व्यवस्था, सफाई से लेकर सभी तरह की सुविधाएं मिलनी चाहिए। लोकसभाध्यक्ष, उपाध्यक्ष, राज्यसभा के उप सभापति, राज्यों के विधानसभाध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, विधान परिषद के सभापति, लोकसभा के महासचिव आदि सम्मेलन में शरीक होंगे।

उन्होंने बताया कि 16 फरवरी की शाम पांच से सात बजे के बीच कार्यकारिणी की बैठक होगी। कार्यक्रम का उद्घाटन 17 फरवरी को ज्ञान भवन के सम्राट अशोक कन्वेंशन सेंटर में लोकसभाध्यक्ष सुमित्रा महाजन करेंगी। कार्यक्रम सुबह 9.30 बजे से 12.30 बजे तक चलेगा। 18 फरवरी को विधानसभा में प्लेनरी सेशन सुबह 10.30 बजे से शाम 4.30 बजे तक चलेगा। 19 को अतिथि बोधगया, राजगीर और नालंदा का भ्रमण करेंगे।

तीन होटलों में ठहरने की व्यवस्था

होटल मौर्या, होटल पनाश और होटल लेमन ट्री में अतिथि ठहरेंगे। तीनों में नियंत्रण कक्ष स्थापित किया जाएगा। यहां सुरक्षा, चिकित्सा सहित कई विभागों के अधिकारी तैनात रहेंगे। सभी जगह एंबुलेंस मौजूद रहेगी।

By Ravi Ranjan