पटना, जेएनएन। केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) की ओर से रविवार को राजधानी सहित राज्य के विभिन्न जिलों में सिपाही भर्ती के लिए परीक्षा हुई। परीक्षा केंद्रों पर प्रश्न पत्र लीक की अफवाह भी उड़ती रही, लेकिन अधिकारियों ने इसे सिरे से खारिज कर दिया। बिहार पुलिस में सिपाही के 11,880 पदों पर भर्ती के लिए 6.85 लाख अभ्यर्थी शामिल हुए। इसके लिए राज्यभर में 550 सेंटर बनाए गए थे। हर पाली में करीब 3.25 लाख अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए। पहली पाली सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक आयोजित हुई जबकि दूसरी पाली में परीक्षा अपराह्न दो से चार बजे के बीच हुई। दूसरे चरण की परीक्षा 20 जनवरी को होगी। यह परीक्षा भी दो पालियों में ली जाएगी। पर्षद के अधिकारियों के अनुसार, करीब 15 फीसद अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल नहीं हुए। 80 से 85 फीसद परीक्षार्थी उपस्थित रहे।

पटना से पकड़े गए छह फर्जी छात्र 

केंद्रीय चयन पर्षद के ओएसडी केके प्रसाद ने बताया कि राज्यभर से 24 परीक्षार्थियों को विभिन्न जिलों से फर्जी छात्रों को गिरफ्तार किया गया। इसमें मुजफ्फरपुर से एक, भभुआ से पांच, पटना से छह, जमुई से एक, नवादा से एक, कटिहार से दो, बेतिया से एक, समस्तीपुर से दो, बेगूसराय से एक, मोतिहारी से एक और रोहतास से तीन फर्जी अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया गया। वहीं, मुजफ्फरपुर में दंपती परीक्षार्थी को बदमाशों ने गोली मार दी है। इसमें महिला गंभीर रूप से जख्‍मी हो गयी है। 

कान के अंदर डाल ली ब्लूटूथ, अब ऑपरेशन से निकलेगा

मुजफ्फरपुर के जिला स्कूल परीक्षा केंद्र पर धनंजय नाम के एक अभ्यर्थी को ब्लूटूथ के साथ पकड़ा गया। चेकिंग के डर से उसने ब्लूटूथ को इतना जोर से दबा दिया कि वह कान के अंदर चला गया। युवक पटना के दुल्हिनबाजार का रहने वाला है। पकड़े जाने के बाद शिक्षकों ने बहुत कोशिश की मगर कान से ब्लूटूथ नहीं निकाला जा सका। डॉक्टर भी ब्लूटूथ नहीं निकाल सके। बताया गया कि अब ऑपरेशन के बाद ही इसे निकाला जा सकता है। 

अभ्‍यर्थी को मारी गोली

उधर, मुजफ्फरपुर में ही एक अन्‍य घटना में सिपाही भर्ती परीक्षा से लौट रहे पति-पत्‍नी को बदमाशों ने गोली मार दी। घटना पारू थाना क्षेत्र में हुई। बताया जाता है कि पत्‍नी को गंभीर स्थिति में अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं पति की स्थिति ठीक है। 

ट्रेनें-बस सब हाउसफुल

सिपाही बहाली परीक्षा के लिए करीब डेढ़ से दो लाख अभ्यर्थी पटना में जुटे थे। इसके कारण शहर में सुबह से शाम तक जाम जैसी स्थिति रही। पटना जंक्शन समेत आसपास के सभी स्टेशनों के प्लेटफॉर्म हाउसफुल रहे। एसी और स्लीपर बोगियों का हाल भी साधारण बोगियों की तरह रहा। बसों के ऊपर बैठकर लोग सफर करते दिखे। 

कहते हैं अधिकारी

कहीं से कोई प्रश्न पत्र लीक या वायरल नहीं हुआ है। परीक्षा के लिए 24 सेट में प्रश्न पत्र तैयार किए गए हैं। अगर किसी केंद्र पर कोई केंद्राधीक्षक पेपर आउट करने की कोशिश भी करें, तब भी हेराफेरी आसान नहीं है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

- केके प्रसाद, ओएसडी, केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) 

महत्वपूर्ण तथ्य

  • 11,880 पदों पर होनी है सिपाही भर्ती
  • 6.50 लाख अभ्यर्थी हुए शामिल
  • 12.65 लाख अभ्यर्थियों ने किया था आवेदन
  • 550 राज्य भर में थे परीक्षा केंद्र 
  • 20 जनवरी को होगी दूसरा चरण की परीक्षा

 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस