पटना, आनलाइन डेस्‍क। Bihar By-Election: नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव (Leader of Opposition Tejashwi Yadav) ने बिहार विधानसभा उपचुनाव से दो दिन पहले राज्‍य सरकार पर बड़ा आरोप लगा दिया है। उन्‍होंने कहा है कि चुनाव जीतने को लेकर बड़ी साजिश रची जा रही है। उन्‍होंने केंद्रीय बल की निगरानी में चुनाव कराने की मांग की है। तेजस्‍वी गुरुवार को प्रेस कांफ्रेस कर सरकार पर निशाना साध रहे थे।तेजस्‍वी ने कहा कि कुशेश्‍वरस्‍थान और तारापुर में लालू प्रसाद की सभा ऐतिहासिक रही। बड़ी संख्‍या में लोग उन्‍हें सुनने पहुंचे। जनता मौजूद सरकार से छुटकारा पाना चाहती है। दरअसल जनता इनकी सच्‍चाई जान चुकी है। 

जदयू कार्यकर्ता की तरह काम कर रहे पुलिसवाले

30 अक्‍टूबर को कुशेश्‍वरस्‍थान एवं तारापुर में मतदान होना है। मतों की गिनती दो नवंबर को होगी। बुधवार शाम से प्रचार भी थम चुका है। अब नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ट्वि‍टर पर सक्रिय हो गए हैं। अब उन्‍होंने प्रेस कांंफ्रेंस कर उपचुनाव में गड़बड़ी का मुद्दा छेड़ दिया है। तेजस्‍वी ने कहा है कि सरकार और उनके अधिकारी इस बार भी चुनाव जीतने का षडयंत्र कर रहे हैं। पुलिस अधिकारी भी जदयू के कार्यकर्ता की तरह काम कर रहे हैं।

एसडीपीओ के खिलाफ की थी शिकायत

उन्‍होंने कहा कि चुनाव से एक महीना पहले दरभंगा जिले के बिरौल से पुलिसवालों का कुशेश्‍वरस्‍थान तबादला कर दिया गया। एसडीपीओ पर मतदाताओं को प्रभावित करने का आरोप लगाया गया था। इसकी शिकायत उन्‍होंने 23 अक्‍टूबर को चुनाव आयोग से की थी। 26 अक्‍टूबर को चुनाव आयोग का जवाब आया। जांच कर कार्रवाई की बात कही गई। चुनाव आयोग ने दरभंगा प्रशासन से इसको लेकर जवाब भी मांगा है। बावजूद जिला प्रशासन ने उस एसडीपीओ को दो दर्जन से अधिक बूथों की जिम्‍मेदारी सौंप दी है। उन्‍होंने कहा कि हार की बौखलाहट साफ दिख रही है। केंद्रीय बलों की मौजूदगी में चुनाव कराया जाए।  

तेजस्‍वी ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर इमोशनल अत्‍याचार का आरोप लगाया। कहा कि लोकतंत्र में आरोप-प्रत्‍यारोप लगते रहते हैं लेकिन किसी पर गोली मरवाने का आरोप लगाना, यह हताशा में दिया गया हैरान करने वाला बयान है।

Edited By: Vyas Chandra