संवाद सहयोगी, सोनपुर (वैशाली): बिहार के वैशाली में एक हफ्ते पहले 55 साल की महिला रेल कर्मचारी की हत्या कर दी गई थी। वारदात में 25 साल के डाटा आपरेटर धीरज की गिरफ्तारी के साथ शनिवार को सोनपुर पुलिस ने मामले का उद्भेदन कर लिया है। एएसपी अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि अवैध संबंध के बीच कार व रुपये वापस मांगने पर महिला रेलकर्मी की जान ली गई थी। सोनपुर रेलवे माइक्रो-वेब कालोनी स्थित क्वार्टर में 18 सितंबर की देर रात महिला रेलकर्मी सुनैना देवी की हत्या कर दी गई थी। 20 सितंबर को पुलिस ने महिला का शव बरामद किया था। सुनैना देवी रेलवे रनिंग रूम में सहायक रसोईया के पद पर कार्यरत थी। पुलिस वारदात में शामिल तीन अन्य की तलाश में छापेमारी कर रही है।

घटना के संबंध में शनिवार की शाम एसडीपीओ कार्यालय में मीडिया को जानकारी देते हुए एएसपी अंजनी कुमार ने बताया कि महिला रेल कर्मी की सुनियोजित साजिश के तहत हत्या की गई थी। वारदात में चार युवक शामिल थे। हत्याकांड में गिरफ्तार सोनपुर राहर दियारा का धीरज कुमार उर्फ सुमित कुमार उर्फ चुन्नु सोनपुर में रेलवे में अनुबंध पर डाटा आपरेटर पद पर कार्यरत था। महिला के साथ उसका अवैध संबंध था। सुनैना ने उसे वैगन-आर कार खरीद कर दी थी। वह युवक को रुपये भी देती रहती थी। बीते 17 सितंबर को विश्वकर्मा पूजा पर महिला ने कार और दिए गए पैसे युवक के वापस मांगे थे। 

तकिया से मुंह दबा की थी हत्या

धीरज अपने साथियों के साथ 17 सितंबर को ही बनारस चला गया। वहां जाकर उसने अपना मोबाइल बंद कर लिया। वह होटल में ठहरा लेकिन वैगनआर कार रेलवे पार्किंग में लगा कर चला गया। 18 सितंबर की रात वह अपने साथियों के साथ यहां पहुंचा और उक्त महिला के क्वार्टर में चला गया। उसी रात उसने तकिया से मुंह दबाकर तथा सिर पर वारकर सुनैना देवी की हत्या कर दी। इस कांड में उसके साथियों ने सहयोग किया। उसके पास से महिला के गले की सोने की चेन बरामद की गई है। अभी महिला की दो सोने की अंगूठी बरामद नहीं हुई है। 

अनुकंपा पर हुई थी बहाली

महिला सुनैना देवी का ससुराल वैशाली जिला अंतर्गत जंदाहा थाना क्षेत्र में था। वह रेलकर्मी स्व. कृष्ण नंदन सिंह की पत्नी थी। पति के मरने के बाद अनुकंपा पर 2013 में उसकी रेलवे में बहाली हुई थी। महिला का मायका वैशाली जिले के महुआ थाना अंतर्गत अख्तियारपुर गांव में था। अगले साल वह रिटायर होने वाली थी। एएसपी ने बताया कि वैगन आर कार पटना में सर्विसिंग के लिए दी गई थी, जिसे जब्त कर लिया गया है। शेष बदमाशों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। मौके पर हरिहरनाथ ओपी प्रभारी कुमारी विभा रानी, सब इंस्पेक्टर आरपी राय तथा सहायक अवर निरीक्षक रंगलाल तिवारी मौजूद थे। 

Edited By: Akshay Pandey