राज्य ब्यूरो, पटना : Good News For Bihar Teachers: बिहार के टीचरों के लिए अच्छी खबर है। राज्य के पंचायती राज और नगर निकाय संस्थानों के तहत कार्यरत साढ़े तीन लाख शिक्षकों को अप्रैल 2021 से 15 फीसद वृद्धि के साथ वेतनमान का लाभ जल्द मिलेगा। शिक्षा विभाग ने शिक्षकों के बढ़े हुए वेतनमान का आकलन और बजट प्रस्ताव वित्त विभाग को भेज दी है, जहां से जल्द प्रस्ताव पर मंजूरी मिलने की उम्मीद है। गौर करने वाली बात है कि इसी साल राज्य मंत्रिपरिषद ने संबंधित शिक्षकों के वर्तमान वेतन संरचना में 15 फीसद वृद्धि की मंजूरी दी थी। वित्त विभाग को संभाल रहे उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने भी शिक्षक संगठनों को यह भरोसा दिया है कि शिक्षा विभाग के प्रस्ताव पर वित्त विभाग की ओर से जल्द सकारात्मक फैसला लिया जाएगा। गौरतलब है कि शिक्षकों के वेतन वृद्धि के प्रस्ताव पर मंत्रिपरिषद की मुहर लग चुकी है। 

बता दें कि बुधवार को राज्य के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता में बिहार कैबिनेट की बैठक हुई थी। इसमें कई बड़े फैसले लिए गए थे। बैठक में कुल 21 प्रस्‍तावों पर मुहर लगने के साथ राज्य कर्मियों के लिए भी अच्छी खबर आई थी। राज्य के सरकारी कर्मियों और पेंशनधारियों को सरकार ने एकमुश्त बकाया डीए (महंगाई भत्‍ता) भुगतान करने का निर्णय लिया था। वहीं हस्‍तकरघा और हस्‍तशिल्‍प निगम के साथ ही औ‍षधि व रसायन विकास निगम के कर्मचारियों की सैलेरी की आकस्मिकता निधि से अग्रिम की स्‍वीकृति भी दी गई है। बड़ी बात यह थी कि इसके लिए ज्यादा इंतजार भी नहीं करना होगा। वहीं पांचवें वेतनमान के दायरे में आने वालों को जुलाई 2021 के प्रभाव से 312 की जगह 356 फीसद महंगाई भत्‍ता दिया जाएगा। अक्टूबर में जुलाई और अगस्त महीने के वेतन के साथ बकाया महंगाई भत्‍ते के भुगतान करने को केबिनेट की बैठक ने मंजूरी दे दी थी। छुट्टियों के लेकर भी कैबिनेट की बैठक निर्णय लिया गया। 2022 से 39 दिनों का अवकाश मिल सकेगा। 

Edited By: Akshay Pandey