संवाद सहयोगी, पालीगंज: पटना के पालीगंज थाना क्षेत्र के दौलत बिगहा कोड़रा गांव में नौ जुलाई की रात युवक की गला दबाकर हत्या के मामले का पुलिस ने रविवार को उद्भेदन कर दिया। बहू के प्यार में पिता ने ही अपने दत्तक पुत्र की गला दबाकर हत्या की थी। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वारदात में शामिल एक अन्य आरोपित की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस छापेमारी कर रही है।

प्रशिक्षु डीएसपी राजीव कुमार सिंह ने बताया कि थाना क्षेत्र के दौलत बिगहा निवासी मिथिलेश रविदास के पुत्र सचिन रविदास की गला दबाकर हत्या के बाद गांव के बाहर खेत में शव मिला था। वारदात में पिता मिथिलेश रविदास ने गांव के ही पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज थाना में कराया था। प्रशिक्षु डीएसपी ने बताया कि जब पुलिस ने युवक के पिता मिथिलेश रविदास के मोबाइल की काल डिटेल निकाली तो बहू के साथ प्रेम-प्रसंग की बात सामने आई। बहू के प्यार में सचिन के पिता अपने पुत्र की हत्या कर दी।

बेटे को भी हो गई थी बाप के प्लान की खबर

पुलिस ने बताया कि पिता के हत्या करने के प्लान की बेटे को भी खबर हो गई थी। वह भी पिता को रास्ते से हटा देना चाहता था। गुजरात में रहकर काम करने वाले बेटे की हत्या के लिए पिता आठ जुलाई को वहां जाना चाह रहा था। लेकिन इसके पूर्व सचिन सात जुलाई को अपने गांव पहुंच गया। इसी बीच नौ जुलाई की शाम मिथलेश भोजपुर जिले के अपने दोस्त के पास चला गया और उसे साथ में लेकर दौलत बिगहा कोड़रा गांव आया। पिता ने अपने दोस्त के साथ मिलकर नौ जुलाई की रात पुत्र की गला दबाकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद शव को घर से 100 मीटर दूर खेत में फेंक दिया। प्रशिक्षु डीएसपी ने बताया कि आरोपित पिता के मोबाइल को पुलिस ने जब्त किया और उसकी जांच की साथ ही उसका सीआरडी निकाला तो पूरे मामला साफ हो गया था। पुलिस आरोपी पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 

महिला मित्र का बेटा था सचिन

पुलिस ने बताया कि मिथिलेश गुजरात में मजदूरी करता था। वहीं एक महिला से उसकी दोस्ती हो गई थी, बाद में दोनों लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे। सचिन उसी महिला मित्र का बेटा था। आठ महीने पहले मिथिलेश ने सचिन की गुजरात की युवती से शादी कराई थी। विवाह के कुछ दिन बाद ही मिथिलेश और सचिन की पत्नी के बीच प्रेम-प्रसंग शुरू हो गया। इसी को लेकर उसने अपने दोस्त के साथ मिलकर बेटे की हत्या कर दी।

Edited By: Akshay Pandey