पटना, जेएनएन। पश्चिम से आने वाली ठंडी हवाओं की गति बढ़ने से राज्य के वातावरण में ठंड का तीखापन लगातार बढ़ते जा रहा है। मंगलवार की सुबह वातावरण में काफी ठंडा रहा।  इसका असर राजधानी के पार्को में देखा गया। बहुत कम लोग सुबह में घर से बाहर निकले। सुबह में शहर के पार्को से बच्चे और बुजुर्ग गायब हैं। पटना मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानियों का कहना है कि ठंड और बढ़ेगी। एक सप्ताह के अंदर राजधानी का न्यूनतम पारा 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे आ सकता है।

दिन और रात के तापमान में देखा जा रहा काफी अंतर

वर्तमान में राज्य का आकाश एकदम साफ है। इसलिए दिन और रात के तापमान में काफी अंतर देखा जा रहा है। शहर का न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह रहा है, वही अधिकतम तापमान 26 से 28 डिग्री सेल्सियस के आसपास रिकॉर्ड किया जा रहा है। शहर की  हवा में वर्तमान में 87 फीसद तक नमी रिकॉर्ड की जा रही है।

सूर्योदय के बाद ही निकलें घर से

पीएमसीएच के हार्ट रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अशोक कुमार का कहना है कि वर्तमान में बुजुर्गों को पार्को में टहलने के लिए सूर्योदय के बाद वातावरण में गर्मी आने पर ही घरों से बाहर निकलना चाहिए। जब तक वातावरण में गर्मी नहीं आती, बुजुर्गों को घर से बाहर निकलना उनके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। सावधानी इस बात को लेकर भी बरतने की जरूरत है की बीपी के मरीज अपनी जेब में दवा अवश्य रखें, जहां कहीं भी सुविधाजनक महसूस हो दवा का सेवन अवश्य कर लें। टहलते वक्त भी गर्म कपड़ा धारण कर रखें। सुबह में भूलकर भी हल्के कपड़े में घर से बाहर मत निकलें। फिलहाल घर में भी ठंड से बचने की जरूरत है। इसके लिए जरूरी है कि शाम को ही घर के खिड़कियों को बंद कर दें।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021