नवादा, जेएनएन। बिहार के नवादा जिले के रोह प्रखंड की सम्हड़ीगढ़ पंचायत के जलालपुर गांव में बुधवार को लॉकडाउन के नियम-कानून की जमकर धज्जियां उड़ाई गईं, वहीं समाज का एक दोहरा चेहरा भी नजर आया। किसी की मौत के बाद आयोजित श्राद्ध कर्म में आर्केस्ट्रा पार्टी का आयोजन किया गया और रातभर लोगों ने बार बालाओं के अश्लील डांस पर जमकर ठुमके लगाए। ये आयोजन थाने से आठ किलोमीटर की दूरी पर ही आयोजित किया गया था और पूछे जाने पर पुलिस ने अनभिज्ञता जताई।

इस श्राद्धकर्म में आयोजित कार्यक्रम में बार बालाओं ने रातभर जमकर ठुमके लगाए। बार- बालाओं के ठुमके व उनके साथ थिरकते हुए गांव के युवाओं के वीडियो सोशल मीडिया पर गुरुवार को वायरल हो गए। वायरल होते हुए वीडियो ट्रोल होने लगा और इसे लॉकडाउन की पाबंदियों से जोड़कर लोगों ने तीखे कमेंट किए। 

जानकारी के मुताबिक नवादा जिले के सम्हड़ीगढ पंचायत के जलालपुर गांव में लॉक डाउन में आर्केस्ट्रा का आयोजन किया गया। बुधवार की रात यह कार्यक्रम आयोजित हुआ। रातभर जमकर वार वालाओं ने ठुमके लगाए। गुरुवार की सुबह से वार-वालाओं के ठुमके और उसके साथ गांव के युवाओं के थिरकने का वीडियो सोशल साइट पर वायरल हुआ।

प्रतिबंध के बावजूद सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन हुआ था, तो ट्रोल होना स्वभाविक है। लॉकडाउन का मखौल उड़ाने में एक जनप्रतिनिधि की भूमिका भी बताई जा रही है। लॉक डाउन की अवधि में फिल्म शूटिंग, सांस्कृतिक कार्यक्रम, सभा आदि के आयोजन पर प्रतिबंध है। प्रशासन को इस आयोजन का पता तक नहीं चल सका।

कार्यक्रम रोह थाना से आठ किलोमीटर दूरी पर आयोजित हुआ था। लेकिन पुलिस प्रशासन को जरा सा भी भनक नहीं लगी। रोह थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार से जब इस बावत पूछा गया तो उन्होंने ऐसे आयोजन की जानकारी से इंकार किया। जानकार बताते हैं कि श्राद्ध भोज के दौरान यह कार्यक्रम आयोजित हुआ था।

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस