पटना, जेएनएन। इस बार चैती छठ घर में ही करें। गंगा घाट और तालाबों पर पटना नगर निगम कोई व्यवस्था नहीं करेगा। यह अपील पटनावासियों से पटना नगर निगम की महापौर सीता साहू ने की है। साहू ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रभाव को रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है। महापौर ने कहा कि छठ जैसे पवित्र पर्व के दौरान एक स्थान पर काफी संख्या में लोग जुटते हैं। ऐसी स्थिति में कोरोना वायरस अपना पांव पसार सकता है। महापौर ने कहा कि निगम कर्मी आपकी भावनाओं के साथ है। अभी सभी को धैर्य रखने की अपील है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से संपूर्ण विश्व जूझ रहा है। सामाजिक दूरी बनाकर ही काबू पाया जा सकता है।

जरूरत की सामग्री की नहीं होगी किल्लत

महापौर ने पटनावासियों से अपील की है कि अपने घर से बाहर न निकलें। जरूरत की सामग्री की किल्लत नहीं होने दी जाएगी। लोगों की सुविधा के लिए किराना, सब्जी, दवा, रसोई गैस जैसी जरूरत की सेवाओं पर कोई रोक नहीं है। बहुत जरूरत पड़ने पर ही घर से निकलें। इससे वे संक्रमण से बच सकेंगे।

विशेष अभियान चला स्लम क्षेत्रों को किया कीटाणुमुक्त

शहर के व्यावसायिक प्रतिष्ठानें बंद रहने के कारण निगम अब मोहल्ले और गलियों की सफाई पर विशेष ध्यान देने लगा है। मुख्य सड़कें चमक रही हैं। अब मोहल्लों से कचरा उठाकर ब्लीचिंग पाउडर छिड़काव के अभियान में तेजी आ गई है। बुधवार को पटना नगर निगम के कर्मियों ने स्लम बस्तियों में विशेष सफाई अभियान चलाया। इसके साथ ही मशीनों से ब्लीचिंग पाउडर के घोल एवं कीटाणुनाशक का छिड़काव किया गया। करीब 90 स्लम बस्तियों में ब्लीचिंग पाउडर और कीटाणुनाशक दवाओं का छिड़काव किया गया। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए निगम के सभी अंचलों में अभियान चलाया जा रहा है। बचे हुए स्लम क्षेत्रों में गुरुवार को भी अभियान जारी रहेगा।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस