पटना, जेएनएन। राजधानी में बुधवार से अतिक्रमण हटाने के लिए विशेष अभियान शुरू कर दिया गया है। ये अभियान 24 जनवरी तक चलेगा। पहले दिन आशियान रोड और बोरिंग कैनाल रोड पर निगम का बुलडोजर चला। इस दौरान सड़क पर काबिज अवैध वेंडरों को हटाया गया। इसके बाद अतिक्रम हटाओ दस्ते की बेली रोड के विश्वेश्वरैया भवन के पास पहुंची। यहां से भी अवैध कब्जे को हटाया गया। अभियान के दौरान आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल भी मौजूद रहे।

इस आशय का निर्णय अतिक्रमण हटाने की समीक्षा के लिए आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल की अध्यक्षता में मंगलवार को बैठक हुई थी। तीन टीम का गठन कर अतिक्रमण हटाए जाने पर निर्णय लिया गया था। बोरिंग रोड, राजापुर पुल से दीघा और दीघा से आशियाना रोड का अतिक्रमण विशेष अभियान के दौरान हटाया गया।

आयुक्त ने निर्देश दिया है कि आशियाना मोड़ के नजदीक टर्निंग को चौड़ा किया जाना है। इसके अतिरिक्त अभियान के दौरान हड़ताली चौक से बेली रोड होते हुए आशियाना मोड़ तक सभी तरह के कच्चे-पक्के अवैध कब्जे भी हटाए जाएंगे।

हड़ताली मोड़ से राजापुर पुल और फिर वहां से सेंट माइकल स्कूल दीघा तक के सभी अवैध कब्जा को भी हटाने के लिए कहा गया है। आयुक्त ने शेखपुरा मोड़ से जेडी वीमेंस कॉलेज तक सड़क चौड़ीकरण में बाधक बने बिजली के पोल और ट्रांसफार्मर को अन्यत्र स्थांतरित करने के लिए कहा है।

बेली रोड से हटाया गया अतिक्रमण

बेली रोड में विश्वेश्वरैया भवन के सामने वेंडरों द्वारा किए गए अतिक्रमण को हटाया गया। वहां विकास भवन से सटकर पांच फीट चौड़ा फुटपाथ का निर्माण कर दिया गया था। इसके बाद की जमीन पर सड़क को चौड़ा किया गया। आयुक्त ने एसपी यातायात को निर्देश दिया कि राजापुर पुल के पास बेचने के लिए लगाई गई सभी पुरानी गाडिय़ों को जब्त किया जाए। मंगलवार को हुई बैठक में पटना प्रक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक संजय कुमार, जिलाधिकारी कुमार रवि के साथ अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस