पटना, राज्य ब्यूरो। जाप प्रमुख पप्पू यादव ने मंगलवार को कहा कि यदि लालू प्रसाद और तेजस्वी से अलग राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह राजद का नेतृत्व करते हैं तो वे राजद के साथ चलने को तैयार हैं और अपनी पार्टी जाप का राजद में विलय तक कर देंगे। इतना ही नहीं उन्होंने एनडीए और महागठबंधन से अलग तीसरे विकल्प पर विचार करने की वकालत भी की। 

यादव ने मंगलवार को कहा कि बिहार की जनता एनडीए और महागठबंधन से इतर अब तीसरा विकल्प चाहती है। क्योंकि राजद और जदयू भाजपा की टीम ए और बी के रूप में काम कर रही हैं। ऐसे हालात में भाजपा, जदयू और राजद को सत्ता से बाहर करने के लिए रघुवंश प्रसाद सिंह के नेतृत्व में तीसरा विकल्प तैयार किया जा सकता है।

तीसरे विकल्प के रूप में बनने वाले संगठन में हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा अध्यक्ष जीतन राम मांझी, कांग्रेस, विकासशील इंसान पार्टी और वामदल के लोग भी साथ आए। इनसे कोई परहेज नहीं होगा। यह कोशिश भी हो कि प्रशांत किशोर जैसे नेता भी इससे जुड़ें ताकि मजबूत विकल्प तैयार हो और बिहार की सत्ता पर काबिज लोगों को बाहर का रास्ता दिखाया जा सके। 

सीएए, एनआरसी और एनपीआर जबरन थोप रही केंद्र सरकार

एनआरसी, एनपीआर व सीएए को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन को लेकर पप्पू यादव ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होने कहा कि सरकार एक जाति विशेष के लोगों पर जबरन एनआरसी, एनपीआर व सीएए जैसे काले कानून को थोपकर देश की शांति को भंग करना चाहती है। जिसे हमलोग कभी कामयाब नहीं होने देंगें।

पप्पू यादव ने कहा कि यह कानून हिदुस्तान की जनता और गरीब आवाम के खिलाफ है। प्रधानमंत्री और गृह मंत्री की ट्यूनिग सही नहीं है। पीएम कुछ कहते हैं और गृह मंत्री कुछ और कहते हैं। आज पूरा देश सरकार के इस फैसले के खिलाफ सड़कों पर उतर आया है। उन्हें जनता की आवाज सुनाई नहीं दे रही है। यह लड़ाई हिन्दू और मुसलमानों की नही हैं। भाईचारे और संविधान बचाने की लड़ाई है। 

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस