पटना पालीगंज। थाने के एनएच-139 मुख्य पथ पर महाबलीपुर गाव के समीप शनिवार को तेज रफ्तार पिकअप ने अखबार बांटकर साइकिल से घर लौट रहे कर्मयोगी गौरी शकर तिवारी और साथी चंदेश्वर पंडित (60 वर्ष) को कुचल दिया। इस हादसे में गौरी शकर तिवारी (55 वर्ष) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि साथी को गंभीर हालत में अनुमंडलीय अस्पताल पालीगंज पहुंचाया गया। इसबीच पालीगंज पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर उक्त वाहन को जब्त कर लिया।

जानकारी के अनुसार, महाबलीपुर निवासी गौरी शकर तिवारी अखबार बांटते थे। शनिवार को एनएच 139 मुख्यपथ पर भेड़हरिया इंग्लिश गाव से गौरी शकर तिवारी अखबार बांटकर अंकुरी गांव के चंदेश्वर पंडित के साथ साइकिल से वापस घर लौट रहे थे। तभी महाबलीपुर लाइन होटल के समीप पिकअप ने रौंद दिया। ग्रामीणों ने पिकअप का पीछा किया तो चालक ने वाहन छोड़कर भाग निकला। ग्रामीणों ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया, जहा चंदेश्वर पंडित को गंभीर हालत में प्राथमिक इलाज कर पीएमसीएच रेफर कर दिया। ग्रामीणों ने हादसे की सूचना स्वजनों को दी। पालीगंज पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और पिकअप को कब्जे में लेकर शव को पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडलीय अस्पताल भेज दिया।

20 वर्षो से बंटाते थे अखबार : अखबार के एजेंट रामप्रवेश यादव बताते हैं कि सोनतटीय करीब महाबलीपुर, अंकुरी, समेत करीब दो दर्जन गावों में 20 वर्ष से कर्मयोगी गौरी शकर तिवारी साइकिल से समाचार पत्र बाटते थे। ग्रामीणों की माने तो गौरी शकर तिवारी के तीन पुत्र हैं। काफी मेहनत कर तीनों बेटे को पढ़ाया। तीनों बेटे सेना में अफसर हैं। इस घटना के बाद महाबलीपुर बाजार में शोक की लहर दौड़ गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस