पटना [जेएनएन]। अवैध बालू खनन की जांच के दौरान खाकी-माफिया गठजोड़ की कलई खुलती जा रही है। शनिवार को  एसएसपी मनु महाराज ने टीम के साथ दीघा के कुर्जी में विष्णु ट्रेडर्स सीमेंट की दुकान में छापेमारी की। यहां अवैध बालू का स्टॉक मिला।

पुलिस ने मौके से बालू कारोबारी टुनटुन सिंह सहित 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। दुकान परिसर में मिली आठ हाइवा, ट्रैक्टर-ट्राली, बोलेरो सहित ऑफिस में मिले कई फर्जी बिल को जब्त कर लिया।

उधर, डीआइजी राजेश ने इस मामले में थाना पुलिस की भूमिका सामने आने के बाद एसएसपी को दीघा थाना प्रभारी गोल्डेन पर विभागीय कार्रवाई का निर्देश दिया।

एसएसपी ने क्षेत्र में अवैध बालू स्टॉक मामले में दीघा थानेदार को सस्पेंड कर दिया है। बालू खनन मामले में इससे पूर्व बिहटा और खाजेकलां थाना प्रभारी भी निलंबित किए जा चुके हैं। इनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू कर दी गई है। 

बेखबर थी पुलिस और हो रहा था बालू स्टॉक 

दीघा थाना क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों से गंगा से अवैध बालू खनन की शिकायत वरीय पुलिस अधिकारियों को मिल रही थी। संबंधित थाना पुलिस को बालू कारोबारियों पर नजर रखने का निर्देश दिया गया था। इसके बावजूद गंगा से बालू कुर्जी तक पहुंच रही थी।

 

एसएसपी ने शनिवार को दीघा क्षेत्र में टीम के साथ कुर्जी में स्थित विष्णु ट्रेडर्स सीमेंट की दुकान छापेमारी की तो यहां बालू का ढेर लगा मिला। पुलिस के साथ खनन विभाग की टीम भी थी। खनन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस क्षेत्र में बालू स्टॉक का लाइसेंस किसी को नहीं मिला।

 

सीमेंट की दुकान में अवैध ढंग से बालू स्टॉक की गई थी। पुलिस सीमेंट की दुकान की घेराबंदी कर वहां मौजूद दुकान मालिक सहित 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। स्थानीय लोगों ने बताया कि दुकान में काफी दिनों से बालू स्टॉक कर उठाव किया जा रहा था। बालू गंगा से निकालकर देर रात यहां जमा की जाती थी। एसएसपी के साथ एएसपी राकेश दुबे, दीघा और पाटलिपुत्र थाने की पुलिस भी मौजूद थी। 

 

हाईवा और ट्राली से हो रहा था बालू उठाव 

एसएसपी और खनन विभाग के अधिकारी ने जब दुकान मालिक से स्टॉक और उठाव का लाइसेंस मांगा, तो वह नहीं दे पाया। इस पर पुलिस ने दुकान मालिक टुनटुक को गिरफ्तार कर लिया। परिसर में भारी मात्रा में बालू के अलावा आठ हाईवा सहित आधा दर्जन ट्राली पर बालू लदी थी।

 

पुलिस ने सभी हाईवा, ट्रैक्टर-ट्राली और एक बोलेरो जब्त कर लिया। छानबीन में एक मुखिया का नाम भी सामने आया। एसएसपी की मानें तो मुखिया के इशारे पर दीघा क्षेत्र से गंगा में अवैध बालू खनन किया जा रहा था और संबंधित दुकानदार को सस्ते दर पर बेच जाता था। पुलिस उक्त मुखिया की तलाश में जुटी है।

 

यह भी पढ़ें: स्कूटी के भीतर से झांक रहा था सांप, देखकर चालक की हालत हुई खराब

 

अवैध ढंग से बालू स्टॉक करने के मामले में दुकानदार सहित 19 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दीघा थाना पुलिस की भूमिका भी सामने आ रही है। अवैध ढंग से चल रहे इस कारोबार को रोकने में नाकाम दीघा थानेदार को सस्पेंड कर लिया गया है। विभागीय जांच भी होगी। 

मनु महाराज, एसएसपी 

 

यह भी पढ़ें: बिहार के इस शहर में 14 अगस्त की मध्यरात्रि को फहराया जाता है तिरंगा, जानिए

 

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप