पटना, जागरण।  बिहार में मंगलवार दोपहर बाद से बुधवार सुबह तक हुई बारिश के दौरान वज्रपात से 23 लोगों की मौत हो गई। गया में अलग-अलग स्थानों पर सर्वाधिक सात लोगों की मौत हुई। इसके बाद मृतकों की सर्वाधिक संख्‍या पटना व कैमूर की रही। नीतीश सरकार ने सभी मरने वालों के परिजनों के लिए चार-चार लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है। 

मिल रही जानकारी के अनुसार गया में सर्वाधिक सात लोगों की मौत वज्रपात से हुई। इसके बाद पटना और कैमूर जिले में चार-चार लोग आकाशीय बिजली की चपेट में आकर जान गंवा बैठे। इन जिलों में दर्जनों लोग वज्रपात की वजह से झुलसे हैं। नवादा, भोजपुर, सीवान और जहानाबाद में भी दो-दो लोगों की मौत की खबर है। 

मंगलवार दोपहर में गया के जिलाधिकारी अभिषेक कुमार सिंह ने वाट्स-एप ग्रुप पर संदेश प्रसारित किया कि अगले दो घंटे तक गया जिला में वज्रपात की आशंका है। तब आकाश में काले-धूसर बादल मंडरा रहे थे। कई दिनों के बाद बारिश हुई। उसी दौरान जिला में छह अलग-अलग जगहों पर वज्रपात हुआ। कैमूर में भी चार लोगों की जान गई, जबकि पांच मवेशी भी इसके शिकार हो गए। 

जिला वार मृतकों पर एक नजर

  • गया - 07
  • कैमूर - 04
  • पटना - 04 
  • भोजपुर - 02
  • सीवान - 02
  • जहानाबाद - 02
  • नवादा - 02

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप