पटना। राजधानी पटना में कोरोना संक्रमण का शिकंजा निरंतर कसता जा रहा है। जनवरी के बाद पहली बार एक दिन 124 नए संक्रमित मिले हैं। इनमें बेउर जेल के 21 कैदी भी हैं। इसके साथ ही जिले में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 534 हो गई है। वहीं पटना के चार समेत 14 मरीज विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं। कोरोना जांच की संख्या औसतन करीब दोगुनी करने के बावजूद संक्रमण दर 1 के खतरनाक स्तर से लगातार पार चल रही है। मंगलवार को 1.28 संक्रमण दर थी तो 25 जून को संक्रमण दर 6.58 हो गई थी। इसे कम करने के लिए 26 जून को करीब 11 हजार लोगों की जांच की गई जबकि मंगलवार यह आंकड़ा करीब आठ हजार रहा।

--------------

एक डाक्टर समेत छह चिकित्सा

कर्मी संक्रमित :

बेउर जेल में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। मंगलवार को 21 नए संक्रमित मिले हैं जबकि 37 की रिपोर्ट पहले ही पाजिटिव आ चुकी है। सभी संक्रमितों को अलग बैरक में रखकर डाक्टर प्रतिनियुक्त किए गए हैं। वहीं एनएमसीएच में माइक्रोबायोलाजी विभाग के एक डाक्टर और दो चिकित्साकर्मियों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इसके अलावा जिला अस्पताल के दो, होली कुर्जी फैमिली और एसपी वर्मा रोड स्थित रेनबो हास्पिटल के चिकित्साकर्मी भी संक्रमित हो गए हैं। नागेश्वर कालोनी में 5, केशरीनगर में 4, बख्तियारपुर में चार, इंद्रपुरी, कुरकुरी, एसके नगर, कुर्जी आदि में दो-दो संक्रमित मिले हैं।

------------

जून में अब तक मिल

चुके 924 संक्रमित :

जून के पहले सप्ताह से प्रदेश खासकर पटना में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़नी शुरू हुई थी। जून में प्रदेश में 1600 से अधिक संक्रमित मिले हैं इनमें से 926 पटना के निवासी हैं। वहीं, गत 11 दिन में जिले में 54 हजार 199 लोगों की जांच की गई और 752 लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इनमें से 662 पटना के निवासी हैं जबकि 90 अन्य जिलों या राज्यों के हैं। इन 11 दिनों में से 8 दिन संक्रमण दर 1 से अधिक रही जबकि 25 जून को यह 6.58 प्रतिशत तक हो गई थी।

Edited By: Jagran