पटना। राजधानी में मंगलवार को आठ हजार 975 आशंकितों की जांच में से 1218 की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इनमें तीन पीएमसीएच, एक एनएमसीएच व चार आइजीआइएमएस के डाक्टर शामिल हैं। एम्स के 12 मेडिकल छात्र भी पाजिटिव मिले हैं। 509 मरीज स्वस्थ हुए हैं। जिले में कुल उपचाराधीन संक्रमितों की संख्या 11 हजार 337 हो गई है।

एम्स में मंगलवार को 1470 आशंकितों की जांच में 320 की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इनमें से 125 पटना के हैं। 24 घंटे में 21 नए संक्रमितों समेत कुल 65 भर्ती हैं। नए भर्ती में 12 एम्स समेत पटना के 18 लोग हैं। नालंदा मेडिकल कालेज अस्पताल में 97 नमूनों की आरटीपीसीआर जांच में 35 की रिपोर्ट पोजिटिव मिली है। इनमें चार कर्मी शामिल हैं। श्री गुरु गोविद सिंह सदर अस्पताल में 89 नमूनों की एंटीजन जांच में आठ की रिपोर्ट पाजिटिव प्राप्त हुई है। पीएमसीएच में मंगलवार को 604 लोगों की जांच में 47 की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इसमें तीन पीएमसीएच के डाक्टर हैं। एक नए समेत कुल नौ मरीज भर्ती हैं और एक को डिस्चार्ज किया गया है। आइसीयू में चार और वेंटिलेटर पर एक संक्रमित है।

अस्पतालों में 82 कोविड मरीज ही भर्ती

पटना। जिले में कोरोना के अब सक्रिय मामले 12 हजार 241 बच गए हैं। वहीं, राजधानी के विभिन्न अस्पतालों में जिले के 82 मरीज भर्ती हैं। मंगलवार को राजधानी सहित पूरे जिले में सात 597 लोगों को कोविड टीका लगाया गया, जिसमें 15 से 17 आयु वर्ग के छह हजार 44 किशोर शामिल हैं। जिलाधिकारी डा. चंद्रशेखर सिंह ने समीक्षा बैठक के बाद बताया कि पटना नगर निगम क्षेत्र में 30 टीका एक्सप्रेस के माध्यम से 1506 लोगों को टीका लगाया गया। 1966 लोगों को प्रिकाशनरी डोज दिया गया। कोविड कंट्रोल रूम के नंबर पर 81 लोगों ने काल किया। 11 लोगों को मेडिकल किट और 10 लोगों को चिकित्सा परामर्श दिया गया। कंट्रोल रूम से 113 व्यक्तियों को दवा किट उपलब्ध कराई गई। हिट कोविड एप पर पांच हजार 882 लोगों का डाटा अपडेट किया गया। जिले के 21 प्रखंडों का डाटा हिट कोविड एप पर अपडेट कर दिया गया है।

-- 47 धाबा दल ने 717 को बिना मास्क का पकड़ा --

डीएम ने बताया कि जिले में 47 धावा दल ने बिना मास्क लगाए 717 व्यक्तियों से 15 हजार 700 रुपये जुर्माना वसूला। बिना मास्क वालों से अब तक तीन लाख 62 हजार 250 रुपये जुर्माना वसूल किया गया है। 190 दुकानों और 849 वाहनों की भी जांच की गई। कोविड मानक का उल्लंघन के आरोप में वाहन मालिकों से 73 हजार रुपये वसूल किए गए।

Edited By: Jagran