पटना : दीघा थाना के जमाखारिज निवासी दसवीं के छात्र रोहित कुमार (16 वर्षीय) की घर से बुलाकर अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या के बाद शव को दीघा में गंगा किनारे ईट भट्ठा के पास फेंक दिया। मंगलवार की सुबह शव मिलने की जानकारी पर जुटे स्वजनों और स्थानीय लोगों ने सड़क जाम कर दिया। थोड़ी देर में पुलिस भी पहुंच गई। करीब तीन घंटे तक दीघा-दानापुर मार्ग जाम रहा। मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को आश्वासन दिया कि आरोपित जल्द ही शिकंजे में होंगे, इसके बाद स्थिति सामान्य हुई। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। एएसपी लॉ एंड ऑर्डर स्वर्ण प्रभात ने बताया कि केस दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही है। जल्द ही सभी आरोपितों की गिरफ्तारी होगी। भाई को बोला बस कुछ देर में आ रहा हूं

रोहित के पिता टेंट की दुकान में काम करते है। तीन भाइयों में वह सबसे छोटा था। उससे बड़े भाई राजन और मुकुल कुमार हैं। स्वजनों ने बताया कि रोहित रोज की तरह सोमवार की रात करीब दस बजे अपने कमरे में पढ़ाई कर रहा था। उसके मोबाइल पर रात करीब साढ़े दस बजे किसी का फोन आया। दूसरे कमरे में पढ़ रहे भाई को उसने बोला कि एक फोन आया है, अभी कुछ देर में लौट कर आ रहा हूं। इतना कहकर वह घर से निकल गया। रात करीब 11 बज तक नहीं लौटा। तब उसके भाई ने फिर रोहित को फोन किया। बोला कि बस लौट रहा हूं। लेकिन, वह घर नहीं आया। बड़े भाई ने फिर रोहित को फोन किया, लेकिन इस बार फोन रिसीव नहंी हुआ। करीब चार बार उसने रोहित के मोबाइल पर फोन किया, इसके बाद उसका मोबाइल बंद हो गया। परिजन परेशान हो गए और आसपास उसकी तलाश में जुट गए। उसके दोस्तों को फोन किया, लेकिन किसी ने कोई जानकारी नहीं दी। माथे में लगी थी गोली, शरीर पर थे जख्म

रोहित के स्वजन पूरी रात उसे ढूंढ़ते रहे लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। सुबह के करीब छह बजे दीघा लिंक रोड पर गंगा किनारे स्थित ईट भट्ठा से कुछ दूरी आगे किसी ने किशोर का शव देखा। उसने पुलिस को इस बात की खबर की। थोड़ी देर में यह सूचना आसपास के लोगों को हो गई। रोहित के घर वालों को भी सूचना मिली कि किशोर का शव मिला है। पुलिस के साथ स्वजन भी मौके पर पहुंच गए। स्वजनों ने उसकी पहचान रोहित के रूप में की। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि छात्र के पैर पर गहरे जख्म थे। उसके माथे में गोली लगी थी। पुलिस की मानें तो अपराधियों ने विश्वास में लेकर रोहित को बुलाया और फिर पिस्टल उसके माथे में सटाकर गोली मार दी। कॉल डिटेल खोलेगा राज, दो हिरासत में

छात्र की हत्या के बाद स्थानीय लोग और स्वजन शव लेकर पोल्सन मोड़ के पास पहुंचे। दानापुर से गांधी मैदान की तरफ जाने वाले मार्ग पर टायर जलाकर रास्ता जाम कर दिया। सुबह नौ बजे से दिन के 11 बजे तक रास्ता जाम रखा। पुलिस रोहित के मोबाइल की तलाश में जुटी है। उसके मोबाइल का कॉल डिटेल खंगाल रही है। सूत्रों की मानें तो रोहित के दो दोस्तों को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। इसमें एक वेटर का काम करता है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, हत्या के पीछे प्रेम प्रसंग की बात आ रही है। पुलिस को शक है कि लड़की के विवाद में दोस्तों या किसी करीबी ने ही उसकी हत्या की है। पुलिस फिलहाल सीडीआर रिपोर्ट का इंतजार कर रही है, ताकि स्पष्ट हो सके कि आखिरी बार रोहित को किसने कॉल की थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस