जागरण टीम, पटना। वज्रपात (Thunderstroke) की अलग-अलग कई घटनाओं में मंगलवार को प्रदेश में 10 लोगों की मौत हो गई। सबसे ज्‍यादा मोकामा (पटना) में तीन लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा सिवान-दरभंगा के दो-दो तथा वैशाली, समस्तीपुर व आरा में एक-एक व्यक्ति की जान गई। मौसम विभाग ने भारी बारिश और तेज हवा को लेकर येलो अलर्ट जारी कर रखा है।  

मवेशी का चारा लाने गए पशुपालक की गई जान 

पटना जिले के मोकामा के मेकरा गांव में पूरब टोला निवासी ब्रह्मदेव राय का पुत्र चंद्रभूषण राय (35) गंगा किनारे मवेशी का चारा लाने के दौरान वज्रपात की चपेट में आ गया। वहीं बुजुर्ग टोला निवासी बच्चू राय के पुत्र रामकृपाल यादव (18) व घोसवरी थाना क्षेत्र के तारतर गांव के निजामत टोला निवासी वासुदेव यादव के पुत्र वाल्मीकि यादव (45) मौत आकाशी बिजली की चपेट में आने से हो गई। 

खेत में काम करते समय दो किसान आए चपेट में 

सिवान के गोरेयाकोठी प्रखंड स्थित सिसई गांव के मुरारपुर टोला में खेत में काम कर रहे दो किसान, बृजकिशोर और शोभन वज्रपात की चपेट में आ गए जबकि वैशाली के बिदुपुर प्रखंड के मजलिसपुर पंचायत के गोखुला गांव के रामनिवास ङ्क्षसह उर्फ मुल्तानी सिंह का तीन साल का पुत्र रौशन कुमार खेलने के दौरान आकाशी बिजली की चपेट में आ गया। वहीं भोजपुर जिले के चरपोखरी थाना क्षेत्र के अमोरजा गांव में वज्रपात से आठ वर्षीय बालक लवकुश कुमार की मौत हो गई।

दरभंगा में दो बुजुर्गों की हो गई मौत  

इधर, दरभंंगा जिले के मनीगाछी प्रखंड की भंडारीसम पंचायत के पूर्व मुखिया सुनर ठाकुर की पत्नी परमेश्वरी देवी (55) और भालपट्टी ओपी क्षेत्र के अदलपुर कुम्हार टोली में ठीठर सदाय के पुत्र मधुरी सदाय (60) की वज्रपात की चपेट में आने से जान चली गई जबकि समस्तीपुर जिले के शाहपुर पटोरी थाना क्षेत्र के रुपौली गांव में आकाशी बिजली गिरने से एक युवक की मौत हो गई।

Edited By: Vyas Chandra