पटना [जेएनएन]। बाढ रेलवे स्टेशन के आउटर सिग्नल के पास बिजली की तार की चपेट में आने से 10 मजदूर बुरी तरह झुलस गए, जिनमें से कई मजदूरों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। बताया जा रहा है कि लोहे की सीढ़ी पर चढ़कर कुछ मजदूर काम कर रहे थे कि सीढ़ी हाइटेंशन तार पर जा गिरी और दस मजदूर झुलस गए।

घटना से आक्रोशित लोगों ने रेल पुलिस दफ्तर मे हंगामा और तोड़फोड़ की और लापरवाही का अारोप लगाया।सभी घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार, बाढ़ रेलवे स्टेशन के पश्चिमी बेढ़ना गुमटी के पास हाईटेंशन तार लगाने का काम चल रहा था,  इसी में सभी मजदूर लगे हुए थे। लोहे की सीढ़ी लगाकर मरम्मत का काम किया जा रहा था। इसी बीच सीढ़ी अनियंत्रित होकर हाइटेंशन तार पर गिर गयी, जिस कारण हाईटेंशन तार की चपेट में आने से मजदूर झुलस गए। मौके पर अफरातफरी मच गयी। सभी मजदूर करंट लगने के कारण जमीन पर गिर गये।

इन मजदूरों की स्थिति को देखते हुए घटनास्थल पर लोगों की जाने की हिम्मत नहीं हुई। बाद में किसी तरह मजदूरों को तार से अलग किया गया। सभी मजदूरों को तुरंत बाढ़ के अनुमंडल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी स्थिति गंभीर देखते हुए पीएमसीएच रेफर कर दिया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है।

घटना के बाद स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए और तोड़फोड़ करने लगे। लोग लापरवाही का आरोप लगा रहे थे।जख्मी मजदूरों में ज्यादातर झारखंड राज्य के धनबाद जिले के रहनेवाले हैं। घायलों में गोलू 25 वर्ष, राजू 24 वर्ष, रवि 29 वर्ष, संजय 25 वर्ष, सुधीर 23 वर्ष, गणेश 28 वर्ष, सत्येंद्र 26 वर्ष, गुरुदास 23 वर्ष, राजकुमार 18 वर्ष और फूलचंद 20 वर्ष हैं, जिन्हें रेफर किया गया है। वहीं, दो मजदूरों का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है। 

विभाग ने बिजली की सप्लाई बंद नहीं की थी। रेलवे के मुताबिक छह मजदूर करंट लगने से बुरी तरह झुलस गए हैं। सबको अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद वरीय अधीक्षक दानापुर और पटना एसआरपी घटनास्थल पहुंचे। 

मौके पर बाढ़ के अनुमंडल दंडाधिकारी सज्जन, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी कमलाकांत प्रसाद और कई थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। प्रशासनिक अधिकारी लोगों के गुस्से को शांत करने में लगे रहे।

Posted By: Kajal Kumari