पटना [जागरण टीम]। ठंड और कोहरे ने पूरे बिहार को अपने आगोश में ले लिया है और इससे जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। ठंड की चपेट में आकर बिहार के विभिन्न जिलों में चौबीस घंटे के भीतर दस लोगों की मौत की खबर है। आज सुबह से ही बर्फीली हवाएं चल रही हैं और कुहासे की वजह से लोग घरों में दुबकने को मजबूर हैं। 

बर्फीली हवाओं ने बढ़ाई कनकनी, जम्मू शिमला से भी ठंडा रहा पटना

दिन में भी अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। शुक्रवार को पटना और मुजफ्फरपुर सहित राज्य के कई हिस्सों में दिन का तापमान इस मौसम में सर्द माने जाने वाले शहरों शिमला, जम्मू, कानपुर, नैनीताल और देहरादून से भी कम रहा।

पछुआ हवा के कारण दिन में भी कनकनी बढ़ी। ठंड बढ़ने से राज्य के कई हिस्सों में जन-जीवन प्रभावित रहा। लोग घरों में दुबके रहे। निकले भी तो गर्म कपड़ों में पूरी तरह ढंक कर। उधर, पटना के दुल्हिन बाजार में कोल्ड डायरिया की चपट में आने से दो बच्चों की मौत हो गई।

उत्तर बिहार में जारी है कोहरे का कहर

बिहार, खासकर उत्तर बिहार में ठंड व कोहरे का कहर जारी है। आज की सुबह भी घने कोहरे से लिपटी हुई है। हर दिन सुबह-शाम घने कोहरे से यातायात भी प्रभावित हुआ है। इस बीच समस्तीपुर व शिवहर में ठंड से एक बच्चे समेत दो के मरने की खबर है। 

पछुआ हवा के साथ घने कोहरे से राजधानी  सहित पूरा प्रदेश ढंका हुआ है। राजधानी के अधिकतम तापमान में अचानक पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट से शुक्रवार कोल्ड डे रहा और आज भी उसके आसार हैं। अधिकांश जगहों पर शीतलहर की स्थिति से लोग घरों में दुबके हुए हैं। 

मौसम विभाग के अनुसार पटना में इस समय सामान्य अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए था, लेकिन 17.4 डिग्री होने के कारण   गलन का अहसास रहा। न्यूनतम तापमान 8.9 डिग्री सेल्सियस रहा। 

शुक्रवार को शून्य विजिबिलिटी और हवा में नमी की मात्रा 93 प्रतिशत होने के कारण हाड़ कंपाने वाली ठंड थी। यही स्थिति आज भी है। 

आज भी सुबह से महसूस हो रही है कनकनी 

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक शुभेंदू सेन गुप्ता के अनुसार शनिवार और रविवार को धूप निकलने की संभावना नहीं है। कोहरे से पूरा प्रदेश प्रभावित रहेगा। सुबह में कोहरे के कारण धूप देर से निकल सकती है। चार जनवरी तक पूरा सूबा ठंड की चपेट में रहेगा। 

चौंका रहा मौसम में बदलाव 

इस वर्ष दिसंबर में पहली बार अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकॉर्ड किया गया। पिछले सात वर्षों में 2012 और 2014 में 29 दिसंबर को कोल्ड-डे की स्थिति थी। 2012 में न्यूनतम तापमान 07 डिग्री और अधिकतम 19 डिग्री सेल्सियस था। 2014 में न्यूनतम तापमान 9 डिग्री और अधिकतम 16 डिग्री सेल्सियस पहुंचा था। 

विजिबिलिटी शून्य, जनजीवन प्रभावित 

शुक्रवार को कोल्ड-डे के कारण राजधानी और आसपास के इलाके में  जनजीवन प्रभावित रहा। सुबह से घने कोहरे की चादर ओढ़े शहर में शून्य विजिबिलिटी रही। हवा में 97 प्रतिशत नमी के कारण देर तक लोग घरों में दुबके रहे। दोपहर बाद कोहरा कम हुआ लेकिन धूप नहीं निकली। कुछ जगहों पर सूर्य के क्षणिक दर्शन हुए। मौसम वैज्ञानिक के अनुसार शनिवार को भी घना कोहरा छाए रहने का अनुमान है। 

ठंड से दस मरे

विभिन्न जिलों में ठंड की वजह से दस लोगों के मरने की सूचना है। हाजीपुर में आग से जलकर तीन लोगों की मौत हो गई है तो वहीं छपरा में भी दो लोगों के मौत की सूचना है। समस्तीपुर जिले के  ताजपुर थाना के नीम चौक निवासी दिलीप कुमार (42) की मौत ठंड से हो गई। सीओ रामेश्वर राम व मुखिया ने इसकी पुष्टि की है।

शिवहर में आरटीपीएस काउंटर के सामने कतार में  सुबह से मां के साथ खड़े बच्चे की मौत हो गई। हालांकि, सीओ ने कहा कि कार्यालय अवधि में बच्चे की मौत नहीं हुई है, लेकिन स्थानीय लोगों ने ठंड से मौत की बात कहीं है। अन्य जिलोें में भी ठंड के कहर से मौत की सूचना है।

कोहरे में घंटों विलंब से चल रही ट्रेनें

घने कोहरे से ट्रेनों का परिचालन बाधित हो गया है। रेल पटरियां तक नजर नहीं आ रही हैं। शुक्रवार को कोहरे के कारण फरक्का एक्सप्रेस भी रद कर दी गई। 

स्थिति यह है कि 100 किलोमीटर की दूरी तय करने में सुपरफास्ट ट्रेनें तीन से चार घंटे का समय ले रही हैं। लंबी दूरी की ट्रेनों की स्थिति भी दयनीय है। सुबह आने वाली ट्रेनें रात और रात में पहुंचने वाली ट्रेनें अगले दिन पहुंच रही हैं। प्लेटफॉर्म और वेटिंग रूमों में यात्री समय गुजारने को मजबूर हो रहे हैं। शुक्रवार को फरक्का एक्सप्रेस रद रहने के कारण यात्रियों की परेशानी और बढ़ गई। 

विलंब से आने वाली ट्रेनें

12368 डाउन विक्रमशिला एक्सप्रेस : 10 घंटे देर से

14055 अप ब्रह्मपुत्र मेल : 16 घंटे देर से

14056 डाउन ब्रह्मपुत्र मेल : 17 घंटे देर से

29 दिसंबर को तापमान :

वर्ष  - न्यूनतम -अधिकतम(डिग्री में) 

2016 -    12    - 20

2015 -    11    - 22 

2014 -    9      - 16

2013  -  12     - 24 

2012   - 7      - 19 

2011   - 10     - 25 

2010   - 8      - 25 

पांच वर्षों में सबसे सर्द जनवरी 

दिन-साल   अधिकतम   न्यूनतम 

13/ 2010   16.9       4.0

12 / 2011  16.8        3.7

23/2012     21.7      5.8 

6/ 2013     14.1       4.0 

9/2014      18.0       7.0

21/ 2015    22.5      4.5 

(तापमान डिग्री सेल्सियस में)

कई जिलों में कोल्ड डे घोषित

मौसम विभाग ने दिन में तापमान गिरने के कारण राजधानी पटना, पूर्णिया, सुपौल और छपरा में कोल्ड डे घोषित कर दिया। अगले एक-दो दिनों में न्यूनतम तापमान एक-दो डिग्री और गिरेगा। मौसम विभाग ने रात में तीन-चार दिनों तक घने कोहरे की चेतावनी जारी की है।

शुक्रवार को दिन में छह से सात किलोमीटर की रफ्तार से पछुआ हवा चली। इससे पटना का अधिकतम तापमान गुरुवार की अपेक्षा 5.4 डिग्री तक गिरा। इसी तरह मुजफ्फरपुर का अधिकतम तापमान 17.2 पर पहुंच गया जो सामान्य से पांच डिग्री कम है। उधर, रात में घने कोहरे के कारण न्यूनतम तापमान में गुरुवार की अपेक्षा शुक्रवार को एक से दो डिग्री तक वृद्धि दर्ज की गई।

गया रहा सबसे ठंडा

शुक्रवार को बिहार में सबसे ठंडा गया रहा। यहां का न्यूनतम तापमान 7.3 डिग्री तक पहुंच गया। इसके बाद भागलपुर (8.0) और पूर्णिया (8.5) रहे। गुरुवार को 6.2 डिग्री के साथ सबसे ठंडा भागलपुर था। पटना एयरपोर्ट पर यात्रियों की फजीहत रही। कोहरे के कारण लो विजिबिलिटी की वजह से शाम 4 बजे तक विमान हवा में चक्कर काटते रहे लेकिन उतर नहीं सके। देर रात तक 15 विमानों को रद्द करना पड़ा और 11 को डायवर्ट करना पड़ा। 

11 विमान रद्द, 12 डायवर्ट, पटना एयरपोर्ट पर शाम 4:33 बजे उतरी पहली फ्लाइट

कोहरे के चलते पटना आने वाले 11 विमान शुक्रवार को रद्द रहे। 5 ग्राउंडेड किए गए। वहीं मौसम साफ होने के इंतजार में 12 विमान कोलकाता, रांची बनारस डायवर्ट किए गए। इसके पहले दोपहर 1 बजे से 3:30 बजे तक आसमान में 8 विमान उतरने के लिए एक से दो घंटे तक चक्कर लगाते रहे, पर विजिबिलिटी कम होने से नहीं उतर सके। उन्हें डायवर्ट किया गया।

 

शाम 4.33 बजे पटना एयरपोर्ट पर पहला विमान दिल्ली से आने वाला गो एयर का जी8-131 उतरा। वहीं दूसरी फ्लाइट दिल्ली से एयर इंडिया की एआई 407 शाम 4.37 में पहुंची। एयरपोर्ट निदेशक ने बताया कि 12 विमान डायवर्ट किए गए। 

 

Posted By: Kajal Kumari