लोकसभा चुनाव के दौरान प्रखंड क्षेत्र के सभी मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की भीड़ उमड़ पड़ी। क्या युवा, क्या बुजुर्ग, हर कोई अपने मताधिकार का प्रयोग करने को बेताब दिखे। महिलाओं में भी मतदान को लेकर गजब का उत्साह देखा गया। मगर वोट डालने की सबसे ज्यादा ललक उन युवाओं में दिखी जो पहली बार वोट डालने निकले थे। वहीं दिव्यांग व वृद्ध ने भी लोकतंत्र के महापर्व में भागीदारी निभाने को मतदान केंद्रों पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। तीखी धूप से बचने को सुबह के सात बजे से ही मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी कतार लग गई। जबकि छठ का प्रसाद लाने व बनाने में जुटे ग्रामीण दोपहर बाद वोट डालने पहुंचे। मतदानकर्मियों से उलझे ग्रामीण, पथराव

-दोपहर के करीब दो बजे प्राथमिक विद्यालय भागवतपुर स्थित मतदान केंद्र 49 पर बोगस वोट डालने के प्रयास में मतदान कर्मियों से ग्रामीण उलझ गए और जमकर रोड़ेबाजी की। जिसमें मतदान कर्मियों को लेकर आई एक जीप और एक पुलिस वाहन का शीशा क्षतिग्रस्त हो गया। अचानक हुए इस हमले से सहमे मतदानकर्मी विद्यालय के एक कमरे में बंद हो गए। वहीं सुरक्षा में तैनात पुलिस बल ने उपद्रवियों को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया। कई राउंड फायरिग की भी सूचना है।

घटना की सूचना पाकर एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा, सर्किल इंस्पेक्टर, बीडीओ भरत कुमार, वारिसलीगंज थानाध्यक्ष विनोद कुमार, काशीचक थानाध्यक्ष राजीव कुमार पटेल, शाहपुर ओपी प्रभारी नागमणि भास्कर पुलिस बल के साथ पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया। हालांकि घटना के बाद कोई भी ग्रामीण वोट डालने नहीं पहुंचे। पीठासीन पदाधिकारी कौशलेंद्र कुमार ने बताया कि पथराव से ईवीएम व आवश्यक कागजातों को किसी प्रकार की क्षति नहीं पहुंची है। उक्त बूथ पर घटना के समय तक 35 प्रतिशत मतदान हुआ था। संवाद प्रेषण तक घटना की प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई गई थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप