नवादा [जेएनएन]। देर रात घर में आग लगी और अंदर ही तड़प-तड़पकर तीन मासूम जिंदा जल गए। दिल हिला देने वाली यह दर्दनाक घटना नवादा के अकबरपुर में हुई। एक ही परिवार में तीन की मौत से इलाके में मातम पसरा है।

झोपड़ी में लगी आग, मचा कोहराम

अकबरपुर थाना क्षेत्र के लखमोहना गांव की अनुसूचित जाति बस्ती में उमेश मांझी का घर है। आधा कच्चा और आधा पक्का घर। रात में फूसनुमा झोपड़ी में राहुल (8 वर्ष), अंजली (12 वर्ष) और सरस्वती (16 वर्ष) आग सेंक रहे थे। आग के पास ही पुआल पड़ा था।

आग सेंकने के बाद तीनों वहीं पर सो गए। रात 10 बजे के बाद झोपड़ी से आग की लपटें उठने लगीं। इसके बाद शोरगुल और कोहराम मच गया। बच्‍चे अंदर चिल्‍लाते रहे, लेकिन उन्‍हें निकाला नहीं जा सका। तीनों की जलकर मौत हो गई। मृतक सरस्वती रिश्ते में उमेश की भांजी है।

तीन बच्‍चों की जलकर मौत

बस्ती वालों ने तीनों को राख हो चुकी झोपड़ी से बाहर निकाला। लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। अंजली और उसकी ममेरी बहन सरस्वती की मौत हो गई थी, जबकि राहुल ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

मृतकों के परिजनों को मिलेेंगे चार-चार लाख

अकबरपुर के बीडीओ मो. नौशाद आलम सिद्दीकी ने बताया कि पीडि़त परिवार को आपदा राहत कोष से चार-चार लाख रुपये दिए जाएंगे। फिलहाल, पारिवारिक लाभ योजना के तहत 20-20 हजार रुपये के चेक  और कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत  तीन-तीन हजार नकद दे दिए गए हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस