बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर हड़ताली शिक्षकों ने रविवार को नगर के प्रजातंत्र चौक पर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। प्रखंड कार्यालय परिसर से शिक्षकों ने जुलूस निकाला और अपनी मांगों को लेकर आवाज बुलंद की। समिति के जिला संयोजक अशोक कुमार सिंह ने कहा कि शिक्षक संवैधानिक तरीके से हड़ताल पर हैं। बावजूद निलंबन और बर्खास्तगी की कार्रवाई की जा रही है, जो निदनीय है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों के आंदोलन को कुचलने के लिए बेवजह एफआइआर और दमनात्मक कार्रवाई की जा रही है। सरकारी तंत्र द्वारा हड़ताल को विफल करने का प्रयास जारी है और शिक्षकों को हड़ताल से वापस आने के लिए धमकी दी जा रही है। सरकार और शिक्षा विभाग की यह कार्रवाई गलत है। शिक्षक नेता विनय प्रभाकर, रामजी प्रसाद, पंकज कुमार ने कहा कि दमनात्मक कार्रवाई से शिक्षक डरने वाले नहीं हैं। मांगों की पूर्ति होने तक हड़ताल जारी रहेगा। राज्यकर्मी का दर्जा मिलने तक आर-पार की लड़ाई जारी रहेगी। मौके पर प्रद्युम्न कुमार पप्पू, गौतम कुमार, गुड्डू कुमार, शंभू सिंह, ललितेश्वर प्रसाद, जहेंद्र कुमार, दीनदयाल वर्मा, रजनीश कुमार, सुभाष प्रसाद, सुधीर कुमार, राजेश कुमार, उदय कुमार आदि शिक्षक उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस