नवादा। नागरिकता कानून व एनआरसी के विरोध में शुक्रवार को नवादा में आयोजित विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के पूर्व ही हिसुआ में कुछ लोगों को रोक लिया गया। हिसुआ नगर पंचायत के नन्नू, रालोसपा नेता मोसाफिर कुशवाहा, भीम आर्मी के धर्मेंद्र राजवंशी, टिकू चौधरी, नवीन कुमार एवं पार्षद असगर अली को थानाध्यक्ष राजकुमार ने शुक्रवार की सुबह थाने में ही नजरबंद कर दिया। वरीय अधिकारियों के आदेश के आलोक में सभी को थाने में नजरबंद रखा गया। बताया जाता है कि शुक्रवार को भीम आर्मी द्वारा नागरिकता कानून एवं एनआरसी के विरोध में कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन करने का निर्णय लिया था। पुलिस को आशंका थी कि इन लोगों के आने से विधि व्यवस्था की समस्या हो सकती है। हालांकि शाम चार बजे के बाद सभी को मुक्त कर दिया गया। रालोसपा नेता मोसाफिर कुशवाहा ने कहा कि केंद्र सरकार के इशारे पर बिहार सरकार आंदोलन को दबाना चाहती है। उन्होंने कहा कि जबतक केंद्र सरकार नागरिकता कानून को वापस नहीं लेती है आंदोलन जारी रहेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस