नवादा। कादिरगंज ओपी क्षेत्र के जमुआवां-पटवासराय गांव के समीप ग्रामीणों ने बालू खनन के विरोध में नवादा-जुमई पथ को घंटों जाम कर दिया। जिससे वाहनों की आवाजाही पूरी तरह ठप हो गई। ग्रामीणों का कहना था कि बालू नदी का उठाव होने से गांव स्थित सकरी नदी में गड्ढा हो जाएगा। जिसके बाद पइन से खेतों तक पानी नहीं पहुंच सकेगा। ग्रामीणों ने बताया कि आसपास के क्षेत्र में सकरी नदी से कुल 11 पइन निकला है। खेतों तक पानी नहीं पहुंचने पर फसलों की ¨सचाई नहीं हो सकेगी और फसल सूख जाएगी। जिससे किसानों व उनके परिवार को भूखे मरना पड़ेगा। इसे लेकर ग्रामीणों ने पथ को जाम कर अपना विरोध जताया। जाम की सूचना मिलने पर कादिरगंज थानाध्यक्ष चंचल कुमार पुलिस बल के साथ वहां पहुंचे और लोगों को समझाकर शांत कराया। खनन पदाधिकारी प्रमोद कुमार ने बताया कि तीन फीट खुदाई होनी है। बालू खनन के लिए इससे ज्यादा गड्ढा नहीं किया जाएगा। इधर, जदयू प्रखंड अध्यक्ष कुलदीप यादव ने कहा कि बालू खनन बंद नहीं होने पर ग्रामीण पुन: चक्का जाम करेंगे।

By Jagran