प्रखंड के नक्सल प्रभावित लालपुर गांव में रविवार को कला, सांस्कृत, साहित्य व क्रीड़ा मंच सृष्टि के कलाकारों द्वारा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति दी गई। थानाध्यक्ष मनोज कुमार की मौजूदगी में आयोजित नुक्कड़ नाटक का मुख्य शीर्षक नक्सलवाद था। इस दौरान कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से समाज से भटके लोगों को मुख्य धारा में जुड़ने की अपील की। संस्था के कलाकारों ने अपने कार्यक्रम के माध्यम से नक्सली गतिविधियों के चलते होने वाली समस्याओं से अवगत कराया। इस अवसर पर मौजूद थानाध्यक्ष मनोज कुमार ने कहा कि नक्सलियों की विचारधारा हमेशा विकास विरोधी रही है। उसके द्वारा हमेशा विकास कार्य में बाधा पहुंचाने का काम किया जाता है। इससे जुड़े लोग युवाओं को बरगलाकर गलत रास्ते पर ले जाते हैं। वैसे तत्वों से सतर्क रहने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि नक्सल प्रभावित इलाकों में इस तरह के कार्यक्रम के आयोजन का मुख्य उद्देश्य लोगों के बीच जागरूकता फैलाना एवं भटके लोगों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ना है। मौके पर नुक्कड़ नाटक के लेखक एवं निर्देशक नागेंद्र उपाध्याय, बीके राय, पांडेय अभिमन्यु कुमार, मतीश नारायण झा, डॉ भोला मिश्रा, शंभू कुमार, पिटू कुमार आदि उपस्थित रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस