कौआकोल के रानीबाजार, सेखोदेवरा स्थित सूर्य मंदिर छठ घाट समेत पूरे प्रखंड की छठ घाटों पर पानी की समस्या गम्भीर बनी हुई है। साथ ही छठ घाटों की साफ-सफाई की व्यवस्था नहीं होने का भी परेशानी इस वर्ष छठ व्रतियों को झेलना पड़ेगा। इस वर्ष बारिश नहीं होने के कारण प्रखंड क्षेत्र की नदियां एवं तालाब पूरी तरह से सूख चुकी हैं। प्रखंड के सेखोदेवरा गांव में स्थित बड़ी तालाब भी पूरी तरह सूख गए हैं। हिन्दुओं का चार दिवसीय सूर्योपासना का व्रत चैती छठ की शुरुआत होने में अब महज कुछ ही दिन शेष रह गए हैं। पर सरकारी स्तर से लेकर अन्य किसी भी स्तर से अब तक छठ घाटों की साफ सफाई एवं पानी की व्यवस्था नहीं की जा सकी है। क्षेत्र के बुद्धिजावियों ने जिला प्रशासन से कौआकोल के विभिन्न छठ घाटों पर व्रतियों को अ‌र्घ्य देने के लिए पानी की वैकल्पिक व्यवस्था किए जाने की मांग की है। बता दें कि प्रखण्ड में चैती छठ की धूम काफी रहती है। दूर दराज से भी सुदूरवर्ती क्षेत्र में आकर लोग चैती छठ करते हैं। बावजूद पानी की समस्या छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं के लिए एक विकराल समस्या बनी है।

Posted By: Jagran