नवादा। पिछले कई दिनों से जारी शीतलहरी से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। शुक्रवार को न्यूनतम तापमान लगभग 8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आगे भी तापमान गिरने के आसार दिख रहे हैं। ठंड के कारण लोगों की दिनचर्या प्रभावित हो गई है। कोहरा के कारण सुबह में सूर्य दिखाई नहीं पड़ते है। लोग ठंड से सिकुड़ रहे हैं। शाम ढलने के पूर्व ही लोग घर में दुबक जा रहे हैं। दिन भर लोग गर्म कपड़े में अपने बदन को ढककर रह रहे हैं।

साधन संपन्न लोग तो उनी कपड़े, हीटर व आग से अपने शरीर की रक्षा कर रहे हैं। वहीं गरीब परिवार के सामने विकट समस्या बनी हुई है। ठंड के कारण स्कूली बच्चे स्कूल जाने से भी कतराने लगे हैं। शुक्रवार को ठंड से निजात के लिए बच्चे विद्यालय के पास आग जलाकर अपना बदन को गर्म करते देखे गए।

अकबरपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती रोगियों के परिजन शुक्रवार को दिनभर धूप के लिए आसमान में टकटकी लगाए रहे। लेकिन सूर्य भगवान का दर्शन नहीं हो सका और न ही अंचल प्रशासन व अस्पताल प्रबंधन अलाव की व्यवस्था कर सकी। सुबह फतेहपुर चौक पर दैनिक मजदूरी करने वाले मजदूर अलाव की व्यवस्था नहीं किए जाने के बाद सड़क पर बिखरे कूट व कागज को जलाकर अपने शरीर को गर्म करते देखे गए। इस ठंड में सबसे अधिक परेशानी दैनिक मजदूरी करने वाले तथा रिक्शा ठेला चलाकर अपने घर का चूल्हा जलाने वाले लोगों के साथ हो रही है, जो ठंड को लेकर घर से निकलना मुनासिब नहीं समझ रहें है। वैसे में उनके घर का चूल्हा जलना मुश्किल हो रहा है।

इस बाबत अंचल अधिकारी कहते हैं कि अलाव की व्यवस्था जल्द की जाएगी। सभी राजस्व कर्मचारी को अलाव की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है। राशि उपलब्ध होने के बाद अलाव के साथ-साथ कंबल वितरण भी किया जाएगा। अचानक तापमान में गिरावट के कारण ठंड बढ़ी है। जल्द चौक-चौराहों पर अलाव की व्यवस्था की जाएगी।

--------------------

बढ़ रही है ठंड, अब तक नहीं हुई अलाव की व्यवस्था

संवाद सूत्र, रजौली : ठंड का प्रकोप रजौली प्रखंड में धीरे-धीरे बढ़ता जा रहा है, लेकिन अब तक स्थानीय प्रशासन द्वारा अलाव की व्यवस्था नहीं की गई है। कई लोगों ने बताया कि विगत चार दिनों में ठंड काफी ज्यादा बढ़ गई है, लोग ठंड के शिकार हो रहे हैं। लेकिन ठंड से ठिठुरते लोगों पर स्थानीय प्रशासन का ध्यान नहीं है। गुरुवार को भी ठंड काफी बढ़ी हुई थी। गुरुवार के दिन का तापमान लगभग 13 डिग्री सेल्सियस के आसपास था। वहीं शुक्रवार को भी मौसम में काफी आ‌र्द्रता थी। सुबह से लेकर 10 बजे तक धूप भी नहीं खिली थी। पूरे दिन लोग ठंड में कंपकंपा रहे थे। स्वेटर व जैकेट भी इस भीषण ठंड में फेल हो रही है। ठंड हवा पानी की तरह बह रही है। बावजूद प्रशासनिक स्तर पर अलाव के लिए कोई पहल नहीं की गई है।

सीओ संजय कुमार झा ने बताया कि प्रखंड क्षेत्र में अलाव जलाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा अब तक कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। आदेश प्राप्ति के बाद अलाव की व्यवस्था कराई जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी वन विभाग से बातचीत कर लकड़ी की व्यवस्था की जाएगी। लकड़ी की व्यवस्था होते ही अलाव जलाया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस