नवादा। जिले में कोरोना मरीजों के हरसंभव इलाज के लिए कई प्रकार की व्यवस्था की जा रही है। इसी कड़ी में कोरोना मरीजों के एक्स-रे के लिए विशेष प्रकार की व्यवस्था की गई है। जिससे संक्रमितों को एक्स-रे के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा। मोबाइल एक्स-रे मशीन सीधे उनके बेड तक पहुंचा कर एक्स-रे कर लिया जाएगा। मंगलवार को जिलाधिकारी यश पाल मीणा ने फीता काटकर मोबाइल एक्स-रे सेवा का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि इस मशीन से कोरोना मरीजों को काफी सहुलियत होगी। आवश्यकता पड़ने पर बाल सुधार गृह और प्रखंड कार्यालय स्थित आइसोलेशन वार्ड में मशीन से मरीजों का एक्स-रे कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि संक्रमितों को इलाज के दौरान किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो, इसका ख्याल रखा जा रहा है। पर्याप्त संख्या में ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध हैं। सदर अस्पताल में 60 और बाल सुधार गृह में एक सौ बेड की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा रजौली अनुमंडलीय अस्पताल में 75 बेड की व्यवस्था है। सभी बेड के पास ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध है। दवाओं की पर्ची साट दी गई है। मरीजों को एक-एक कीट दिया जाएगा, जिसमें जरुरत की सामग्री होगी। कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए डॉक्टरों, नर्सों की प्रतिनियुक्ति की गई है। तीन शिफ्ट में अलग-अलग डॉक्टर और कर्मी प्रतिनियुक्त किए गए हैं।

-----------------

रैपिड रिस्पॉन्स टीम को सक्रिय करने का निर्देश

- डीएम ने सिविल सर्जन कार्यालय कक्ष में स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने उपलब्ध व्यवस्थाओं की समीक्षा की। डीएम ने कहा कि सभी चिकित्सकों की सूची तैयार रखें और उन्हें मुख्यालय में बने रहने को कहें। रैपिड रिस्पॉन्स टीम (आरआरटी) को सक्रिय रखें। उन्होंने कहा कि 10 निजी एवं सरकारी चिकित्सक, 25 पारामेडिकल का रिजर्व टीम बनाएं, ताकि जरूरत पड़ने पर इनकी सेवा ली जा सके। गंभीर मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेन्डर, आवश्यक दवाइयों की व्यवस्था रखें। सिर्फ खानापूर्ति न करें। पूरी व्यवस्था को दुरूस्त रखें। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने ड्रग इंस्पेक्टर को निर्देश देते हुए कहा कि कोविड के मद्देनजर जिले भर में ऑक्सीजन सिलेन्डर एवं आवश्यक दवाओं के स्टॉक पर नजर रखें। कालाबाजारी करने वालों पर सख्त कार्रवाई करें। कोविड पॉजिटिव मरीजों का नियंत्रण कक्ष से लगातार मॉनिटरिग करते रहें। उन्होंने कहा कि कोरोना से मृत व्यक्ति हेतु डिस्पोजल बैग की व्यवस्था करें। डेड बॉडी डिस्पोजल टीम का गठन करें। कोरोना के दूसरे लहर में भयावह स्थिति से निपटने के लिए निजी डॉक्टर्स एवं नर्सिंग होम की सहायता ली जाए जहां सिटी स्कैन, ऑक्सीजन, बेड आदि की उचित व्यवस्था हो। उन्होंने डीपीएम को निर्देश देते हुए कहा कि लोगों को जागरूक करने के लिए बड़े पैमाने पर प्रचार-प्रसार करें।

---------------------

डीएम ने कोरोना जांच का लिया जायजा

- डीएम ने नगर भवन पहुंच कर कोरोना जांच संबंधी कार्य का निरीक्षण किया। नगर भवन में सदर अस्पताल की भीड़ को नियंत्रित करने के उद्देश्य से कोरोना जांच की व्यवस्था की गई है। उन्होंने जांच को लेकर संबंधित कर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। इसके बाद डीएम बेलदारी स्थित बाल सुधार गृह आइसोलेशन वार्ड का जायजा लिया। वहां उन्होंने उपलब्ध सेवाओं और व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। यहां सौ बेड का वार्ड बनाया गया है। इस आइसोलेशन वार्ड में ऑक्सीजन, बेड, शौचालय, पानी, आदि की व्यवस्था की गई है। उन्होंने खान-पान की व्यवस्था को दुरूस्त करने का निर्देश दिया। इसके बाद डीएम नवनिर्मित सदर प्रखंड कार्यालय भवन पहुंचे। इस नवनिर्मित भवन के जमीनी तल पर आइसोलेशन वार्ड बनाने की तैयारी है। मौके पर प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. अशोक कुमार, सदर एसडीएम उमेश कुमार भारती, बीडीओ कुमार शैलेंद्र, डीपीआरओ गुप्तेश्वर कुमार आदि उपस्थित थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021