सरकार की ओर से नये साल में आने वाले आम बजट की तैयारी चल रही है। अधिकारियों व विशेषज्ञों की टीम सभी बिन्दु पर गहन चितन कर बजट निर्माण में जुटे हुए हैं। ताकि पेश होने वाला आम बजट सभी वर्गों के लिए कल्याणकारी हो। वहीं आम बजट से खासकर खुदरा व्यापारियों को भी काफी उम्मीदें है।

शुक्रवार की सुबह करीब 11 बज रहे थे। दैनिक जागरण की टीम नवादा बाजार में किराना समेत कई खुदरा व्यापारियों से मिली। जब उन्हें पता चला कि सरकार की ओर से नये साल का आने वाला आम बजट पर उनकी राय लेनी है तो काफी उत्साहित दिखे। खुदरा व्यापारी बजट को लेकर काफी खुश थे। व्यापारियों ने बताया कि किसी भी प्रकार की दुकान खोलने के लिए पंजीयन कराना पड़ता है। पंजीयन को लेकर सरकारी कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता है। पंजीयन की प्रक्रिया सरल होनी चाहिए। रोजमर्रे की सामग्री सस्ती होनी चाहिए। इससे मध्यम वर्ग को लाभ मिलेगा। इसके साथ ही उत्पाद शुल्क में कमी होनी चाहिए। खुदरा व्यापारियों के लिए इनकम टैक्स में विशेष छूट की व्यवस्था की जाए आदि मुद्दे पर लोगों ने खुल कर बात की। ----------------------------

कहते है खुदरा व्यापारी

- आम बजट में खासकर खुदरा व्यापारियों के लिए इनकम टैक्स में विशेष छूट की व्यवस्था होनी चाहिए। सरकार की ओर से 2.50 लाख से उपर की राशि पर इनकम टैक्स देने का प्रावधान है। इससे खुदरा व्यापारी भी इनकम टैक्स के दायरे में आ जाते हैं। इसलिए इनकम टैक्स का स्लैब बढ़ाकर कम से कम 5 लाख किया जाए। इससे खुदरा व्यापारियों को काफी राहत मिलेगी। वित्त मंत्री को इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

सुनील कुमार, श्रृंगार दुकानदार, नवादा। फोटो-08.

------------------------

- खुदरा दुकानदारों को अपने संस्थान का पंजीयन कराना पड़ता है। इसके लिए दुकानदारों को सरकारी कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता है। पंजीयन की प्रक्रिया सरल होनी चाहिए। इसके साथ ही रोजमर्रा की सामग्री सस्ती होनी चाहिए। सरकार की ओर से मंहगाई पर लगाम लगना चाहिए। इससे खुदरा व्यापारी व मध्यम वर्ग के लोगों को काफी लाभ मिलेगा। आम बजट सभी वर्गों के लिए कल्याणकारी होनी चाहिए।

शंकर कुमार, किराना दुकानदार, नवादा। फोटो-09.

----------------------------

- सरकार की ओर से खासकर मंहगाई पर लगाम लगना चाहिए। रोजमर्रा की सामग्री सस्ती होनी चाहिए। इससे खुदरा दुकानदार व मध्यम वर्ग के लोगों को काफी राहत मिलेगी। इसके अलावा खुदरा व्यापारियों के लिए इनकम टैक्स पर विशेष छूट की व्यवस्था की जाय। इसके साथ ही पेश होने वाला बजट आमजनों के लिए हितकर हो। वित्त मंत्री को इस पर विशेष ध्यान देना होगा।

राहुल अग्रवाल, गिफ्ट दुकानदार,नवादा। फोटो-10.

---------------------------

- सरकार की ओर से इनकम टैक्स के लिए 2.50 लाख निर्धारित किया गया है। जो काफी कम है। इनकम टैक्स का दायरा कम से कम 5 लाख होनी चाहिए। इनकम टैक्स का स्लैब बढ़ाना चाहिए। इससे छोटे व्यापारियों को काफी राहत मिलेगी। इसके अलावा आमलोगों को भी सहूलियत होगी। आम बजट में व्यापारियों को इनकम टैक्स का विशेष लाभ दिया जाय। साथ ही मंहगाई पर लगाम लगना चाहिए।

सुनील कुमार जैन, कपड़ा दुकानदार, नवादा। फोटो-11.

----------------------------

कहते हैं एक्सपर्ट

- इनकम टैक्स का दायरा 2.50 लाख से बढ़ाकर 5 लाख किया जाना चाहिए। साथ ही रोजमर्रा की सामग्री सस्ता होना चाहिए। इससे छोटे व्यापारियों को काफी राहत मिलेगी। खुदरा दुकानदारों को अपने संस्थान का पंजीयन कराना अनिवार्य है। इसके लिए छोटे दुकानदारों को काफी परेशानी होती है। पंजीयन प्रक्रिया सरल होनी चाहिए। इससे छोटे व्यापारियों को काफी राहत मिलेगी। मंहगाई पर लगाम लगाया जाय। पेश होने वाला बजट आमजनों के लिए कल्याणकारी होना चाहिए।

प्रवीण कुमार, मोबाइल संघ जिलाध्यक्ष,नवादा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस