मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

थाना क्षेत्र के संदोहरा गांव में शुक्रवार की दोपहर बाद दो पक्षों के बीच गोलीबारी व रोड़ेबाजी की घटना हुई। सूचना के बाद पहुंची पुलिस के वाहन को उपद्रवियों ने निशाना बनाया। जिसमें पुलिस के दो वाहनों के शीशे क्षतिग्रस्त हो गए। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। इस मामले में चार लोगों को हिरासत में लिया गया है। नारदीगंज, हिसुआ और मुफस्सिल थाना की पुलिस गांव में कैंप कर रही है। घटना के पीछे सरपंच बच्चू यादव व राजकुमार यादव के चुनावी रंजिश बताया जा रहा है।

बताया जाता है कि 11 अप्रैल को हुए चुनाव के दौरान पार्टी विशेष के पक्ष में वोट देने को लेकर दोनों पक्षों के बीच अनबन थी। इस बीच शुक्रवार को सरपंच बच्चू यादव के घर पर चढ़कर राजकुमार के समर्थकों ने गोलीबारी व पथराव कर दिया। सरपंच समर्थकों की सूचना के बाद थानाध्यक्ष दीपक कुमार राव दलबल के साथ गांव पहुंचे। स्कूल के समीप वाहन खड़ी कर पुलिस आरोपितों को पकड़ने के गांव की ओर पहुंची तब ग्रामीणों ने पुलिस दल भी पथराव कर दिया। जिसमें पुलिस के दो वाहनों का शीशा क्षतिग्रस्त हो गया। पुलिस वाहनों के दोनों चालक को भी हल्की चोटें आई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने ग्रामीणों पर भी लाठियां चटकाई।

आलम ये कि गांव की गलियों और दोनों पक्ष के घर की छतों पर ईंट के टुकड़े पसरा हुआ है। गांव में तनाव कायम है। स्थिति को नियंत्रित रखने के लिए हिसुआ थानाध्यक्ष राजकुमार, इंस्पेक्टर सूर्यमणि राम, मुफस्सिल थाना की पुलिस गांव में कैंप कर रही है। किसी भी पक्ष से प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई गई है। पुलिस ने ग्रामीण अजय कुमार समेत तीन चार लोगों को हिरासत में लिया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप