नवादा। जिला मुख्यालय स्थित लघु ¨सचाई विभाग के मैदान में प्रधानमंत्री कृषि ¨सचाई योजना के तहत दो दिवसीय किसान मेला सह प्रदर्शनी का शुभारंभ हुआ। जिला कृषि पदाधिकारी सुनील कुमार, सहायक निदेशक उद्यान भूषण कुमार, उपनिदेशक भूमि संरक्षण संजय कुमार ने दीप प्रज्ज्वलित कर मेले का उद्घाटन किया। डीएओ ने किसानों को आधुनिक पद्धति से खेती करने की नसीहत दी। साथ ही कम पानी में ज्यादा उपज की जानकारी दी। प्रदर्शनी के माध्यम से ड्रीप ¨सचाई के बारे में जानकारी दी गई। डीएओ ने कहा कि ड्रीप ¨सचाई काफी कारगर है। यह पानी बचाने में भी सहायक सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि पानी की लगातार कमी हो रही है। पीने योग्य पानी महज 3 फीसद है। लोग पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं। ऐसे में पानी की बचत करना जरुरी है। उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि ड्रीप ¨सचाई को अपनाएं। कृषि मेले में किसानों को सूक्ष्म ¨सचाई, जल संरक्षण, भूमि संरक्षण के बारे में विस्तार से बताया गया। डीएओ ने बताया कि सूक्ष्म ¨सचाई दो प्रकार के होते हैं। एक स्प्रींकलर यानि छिड़काव विधि और दूसरा ड्रीप ¨सचाई होता है। ड्रीप ¨सचाई यानि कि पानी की बूंदों से फसलों को सींचा जाता है। इससे पानी की काफी बचत होती है और फसल उत्पादन में वृद्धि होती है। कृषि मेले में कुल 40 स्टॉल लगाए गए। इसके माध्यम से सरकार की जनोपयोगी योजनाओं की जानकारी दी गई। कृषि मेले में किसानों की सहभागिता देखी गई। मौके पर प्रखंड उद्यान पदाधिकारी रोहिताश्व राय, कृषि समन्वयक राजेश रंजन, बीएओ सुमंत कुमार सहित अन्य कृषि पदाधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran