नवादा। सिरदला प्रखंड के सांढ पंचायत की बेल्दरिया पचंबा गांव में डायरिया की चपेट में आने से एक 70 वर्षीया वृद्ध महिला मोना देवी की मृत्यु हो गई। मृतका स्व किशोरी चौहान की पत्नी थीं। हालांकि अधिकारिक तौर पर डायरिया से मौत की पुष्टि नहीं की गई है। गांव में कई लोग अब भी डायरिया से पीड़ित हैं।

सूचना के बाद शनिवार को सिरदला चिकित्सा प्रभारी डॉ अजय कुमार चौधरी मेडिकल टीम के साथ पचम्बा गांव पहुंचे और कैंप कर पीड़ितों का इलाज शुरू किया।

चिकित्सा प्रभारी ने बताया प्रखंड प्रमुख प्रीति कुमारी चौहान भी डायरिया से ग्रसित हैं। जिनका इलाज किया जा रहा है। गांव में करीब दस लोग डायरिया से अक्रांत हुए हैं। सभी खतरे से बाहर हैं। प्रमुख प्रीति कुमारी चौहान किसी रिश्तेदार के घर न्योता में गई थी। जहां से वे बीमार हुए और घर आने के बाद कय दस्त होने के बाद सिरदला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए भर्ती हुई। जहां उनका समुचित इलाज के बाद उन्हें घर भेज दिया गया है। गांव के मेडिकल टीम के द्वारा कुआं में ब्लीचिग पाउडर डाला गया है। डायरिया फैलने से स्थानीय लोग भी काफी भयभीत हैं। ग्रामीणों की मानें तो मेडिकल टीम गांव पहुंचकर इलाज नहीं करती तो गांव में डायरिया महामारी का रूप ले लेता। सूचना पर प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉ राजेश कुमार चौधरी, बी पीआरओ अमरदीप चौधरी, अंचल अधिकारी गुलाम सरवर समेत अन्य अधिकारी भी गांव पहुंच लोगों का हालचाल लिया। बता दें कि इसके पूर्व चैली गांव में डायरिया ने महामारी का रूप लिया था। उस गांव में पांच लोगों की मौत पिछले सप्ताह ही हुई थी। बताया गया कि गांव में शादी का भोज खाने के बाद लोग बीमार हुए। फिलहाल, गांव की स्थिति नियंत्रित बताई जा रही है।

Edited By: Jagran