नवादा। दशहरा पर्व शांतिपूर्ण संपन्न कराने में प्रशासन सफल रही। अब मुहर्रम की बारी है। गुरूवार को मोहर्रम के ताजिया का पहलाम होना शेष रह गया है। वैसे कमोवेश ग्रामीण क्षेत्रों में बुधवार को ही मोहर्रम के ताजिया का पहलाम भी हो गया, लेकिन नवादा नगर सहित कुछ अन्य स्थानों पर ताजिया का पहलाम होना शेष है। ऐसे में अगले कुछ घंटे प्रशासन के लिए चुनौतीपूर्ण बना रहेगा।

ताजिया का जुलूस जिले के चार क्षेत्रों नवादा नगर, अकबरपुर, पकरीबरावां व धमौल प्रशासनिक ²ष्टकोण से संवेदनशील माना जाता रहा है। इन चारों स्थानों में धमौल में बुधवार की देर रात तक यह कार्य पूरा कराने के लिए प्रशासन तैयार बैठी थी। अब गुरूवार को नवादा नगर, अकबरपुर व पकरीबरावां में ताजिया का पहलाम होना है। ऐसे में प्रशासन के लिए गुरूवार रात तक का समय थोड़ा तनाव वाला बना रहेगा।

वैसे अबतक की व्यवस्था में जिला प्रशासन की तैयारियों का बेहतर नतीजा सामने आया है। जिले के चप्पे-चप्पे पर भीड़-भाड़ वाला दशहरा पर्व शांतिपूर्ण रहा है। मुहर्रम का ताजिया जुलूस भी ग्रामीण क्षेत्रों में शांतिपूर्ण रहा है। ऐसे में उम्मीद है कि मुहर्रम का जुलूस भी तजिया जुलूस की भांति शांतिपूर्ण संपन्न होगा।

दरअसल, दशहरा व मोहर्रम साथ-साथ होने के कारण प्रशासन की परेशानियां बढ़ी हुई थी। डीएम-एसपी स्वयं लगातार तैयारियों की मॉनिट¨रग कर रहे थे। ब्लॉक, थाना से लेकर संवेदनशील गांवों तक में शांति समिति की बैठकें कराई गई थी। प्रखंड व थाना स्तर पर तो दो से तीन बैठकें प्रबुद्धजनों व जनप्रतिनिधियों के साथ की गई थी। बेहतर प्रशासनिक तैयारियों का असर अबतक देखा गया है। उम्मीद है कि अगले कुछ घंटे भी शांतिपूर्ण गुजर जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस