नवादा नगर की बदहाल सफाई व्यवस्था ने लोगों की परेशानियां बढ़ा रखी है। घर से निकलते ही लोगों को गंदगी से दो चार होना पड़ रहा है। शहर के प्रमुख रास्तों पर जलजमाव है। नगर थाना रोड, राजेंद्र नगर, वीआईपी कॉलनी, नवीन नगर, न्यू एरिया, डोभरा पर समेत कई दूसरे रास्तों में गंदगी के साथ जलजमाव है। शहर की मुख्य सड़कों पर कीचड़ इस कदर है कि पैदल चलना भी दुश्वार है। कब-कौन कहां गिर जाए कहा नहीं जा सकता। कई जगहों पर सड़क जर्जर हाल में है। जगह-जगह कूड़े-कचरे की ढेर बेहतर नागरीय सुविधाओं के दावे को मुंह चिढ़ा रही है। इन सबके बीच नवादा नगर परिषद के सफाई कर्मी हड़ताल पर हैं। हड़ताल के पांचवे दिन अपनी मांगों को लेकर नगर परिषद के सफाई मजदूरों ने सोमवार को शहर में जुलूस भी निकाला। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या जब तक सफाई मजदूर हड़ताल पर रहेंगे तब तक शरहवासियों का गली-मोहल्ला गंदा रहेगा? कचराप्वाइंट से कचरे का उठाव नहीं होगा। कब तक नगरवासियों को उनकी हाल पर रखा जाएगा? बहरहाल, नगर परिषद की लचर सफाई व्यस्था से परेशान लोगों ने जिला प्रशासन व जनप्रतिनिधियों से यथाशीघ्र मामले में जरूरी पहल करने की मांग की है। गंदगी व जलजमाव को लेकर शहर के प्रबुद्धजनों में नाराजगी है।

-------------

डोर-टू-डोर सफाई के लिए एजेंसी का चयन हुआ पर कार्यादेश नहीं मिला

-नवादा नगर के सभी वार्डों में डोर-टू-डोर सफाई कराने के लिए नगर परिषद ने पिछले महीने एक एजेंसी का चयन किया है। लेकिन अब तक विभागीय कार्यादेश नहीं मिलने से सफाई का काम उस एजेंसी के द्वारा नहीं शुरू किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक बीते 14 अगस्त को ही सफाई के लिए एजेंसी का चयन किया जा चुका है। इस मसले पर नगर परिषद की चेयरमैन पूनम कुमारी ने कहा कि यदि एजेंसी को कार्यादेश दे दिया जाता है तो साफ-सफाई के काम में सहुलियत हो सकती है। उन्होंने कहा कि एक्सक्यूटिव की ओर से कार्यादेश निर्गत किया जाना है। वहीं इस पूरे मसले पर एक्सक्यूटिव देवेंद्र सुमन ने कहा कि जिस एजेंसी का चयन किया गया है उसे लेकर कई तरह की आपत्तियां दर्ज कराई गई है। नगर एवं आवास विभाग की ओर से मामले में कहा गया है कि जांचोपरांत ही आगे की कार्रवाई सुनिश्चत की जाएगी। अधिकारी की मानें तो आपत्तियों की जांच के बाद ही आगे का निर्णय लिया जा सकता है।

------------

त्योहार के सीजन में गंदगी से निपटारे का इंतजाम करना जरूरी

-गणेश विसर्जन व ताजिया जुलूस के पहलाम को लेकर नगर में साफ-सफाई होनी बहुत जरूरी है। मंगलवार की रात से जुलूस निकलना शुरू हो जाएगा। ऐसे में यदि समूचे नगर में बेहतर साफ-सफाई के इंतजाम नहीं किए गए तो जुलूस में शामिल लोगों को दिक्कत होगी। जुलूस में हजारों लोग पैदल चलकर पार नवादा से डीएम कोठी के समीप करबला तक जाते हैं। ऐसे में प्रमुख रास्ते में साफ-सफाई रहनी जरूरी है। सोमवार को बड़ी संख्या में अकीदतमंद नेयाज फातिया पढ़ने के लिए करबला गए। महिलाएं भी वहां पहुंची थी। दूसरी तरफ, करमा पूजा को लेकर बाजार करने आए लोगों को भी गंदगी से जूझना पड़ा। प्रजातंत्र चौक, विजय बाजार, पुरानी कचहरी रोड में भी गंदगी से परेशानी हो रही है।

-----------

क्या कहते हैं शहरवासी

-नगर की साफ-सफाई को लेकर अधिकारियों को गंभीरता से ध्यान देना चाहिए। शहर में थोड़ी सी बारिश होते ही हर तरफ गंदगी दिखने लगती है। रास्ता में चलने में काफी दिक्कत होती है।

सुनील कुमार चंदेल, नवादा। (फोटो: 27)

------

बीते कुछ दिनों से शहर में गंदगी की समस्या बढ़ गई है। कई जगहों पर कीचड़ रहने से पैदल चलने में भी परेशानी होती है। नगर परिषद को शहर की साफ-सफाई को लेकर ध्यान देना चाहिए।

सोनम कुमारी, नवादा। (फोटो: 26)

---------

क्या कहती हैं चेयरमैन

-सफाई कर्मियों की हड़ताल के कारण नवादा नगर में साफ-सफाई को लेकर परेशानी आ रही है। इस मसले पर अधिकारी से भी बातचीत की गई है। शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर जरूरी पहल की जा रही है।

पूनम कुमारी, चेयरमैन, नगर परिषद, नवादा।

------------

क्या कहते हैं अधिकारी

-हड़ताल पर रहे सफाई मजदूर वैकल्पिक स्तर पर भी नगर की साफ-सफाई नहीं होने दे रहे हैं। सोमवार को जब सफाई कार्य के लिए गाड़ी निकाला जा रहा था तो सफाई मजदूरों ने विरोध दर्ज कराया। पूरे राज्य भर में सफाई मजदूर हड़ताल पर डटे हैं। ऐसे में शहर की सफाई को लेकर वरीय अधिकारियों से बातचीत कर जरूरी पहल की जाएगी।

देवेंद्र सुमन, एक्सक्यूटिव, नगर परिषद नवादा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप