नवादा। नवादा जिले में शिक्षा विभाग के लिए वित्तीय वर्ष 2018-19 अंतर्गत समग्र शिक्षा अभियान का वार्षिक बजट तय हो गया है। इस बार जिला से बजट प्रावधान के लिए 4 अरब 41 करोड़ 53 लाख रुपये का प्रस्ताव गया था। जहां से विभाग ने 1 अरब 84 करोड़ 10 लाख रुपये की शिक्षा बजट का अनुमोदन दिया है। सर्वाधिक राशि शिक्षकों की सैलरी के लिए दी गई है। जो कि 1 अरब 4 करोड़ 86 लाख रुपये है। वार्षिक बजट में स्कूली बच्चों के पोशाक, टेक्स्ट बुक, लाइब्रेरी, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, शिक्षण प्रशिक्षण मूल्यांकन, ग्रांट हर चीज पर ध्यान दिया गया है। वहीं दिव्यांग बच्चों की शिक्षा और उनके स्वास्थ्य से जुड़े कार्यक्रम पर भी बजट का प्रावधान किया गया है।

------------

साइंस मेला से लेकर बुक फेयर तक लगेगा

-समग्र शिक्षा अभियान के तहत जिले में राष्ट्रीय अविष्कार अभियान से अलग-अलग जगहों पर साइंस मेला, किताब मेला, फन मेला का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा स्कूली बच्चों की विज्ञान की पढ़ाई को बेहतर करने के लिए तरह-तरह के विज्ञान कीट भी विभाग की ओर से उपलब्ध कराए जाएंगे।

-----------

अब बच्चों के नामांकन के आधार पर जाएंगे ग्रांट के रुपये

-इस बार की समग्र शिक्षा अभियान बजट के अनुसार अब सरकारी स्कूलों को मिलने वाला ग्रांट वहां बच्चों की नामांकन के आधार पर दिया जाएगा। पहले की योजना के अनुसार स्कूल के हिसाब से ग्रांट के रुपये उपलब्ध कराए जाते थे। जिसमें बदलाव किया गया है। इस राशि से स्कूल के विकास से संबंधित कार्य किए जाते हैं। ग्राफिक्स:

शिक्षक सैलरी- 1 अरब 4 करोड़ 86 लाख

आरटीई एंड इंटिटेलमिनिटी-41 करोड़ 53 लाख 78 हजार

आउट ऑफ स्कूल-107 लाख

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा- 19 करोड़ 2 लाख

शिक्षण प्रशिक्षण एवं मूल्यांकन- 19 करोड़

कंपोजिट स्कूल ग्रांड-9 करोड़ 35 लाख

लाइब्रेरी- 1 करोड़ 13 लाख

राष्ट्रीय अविष्कार अभियान- 6 लाख 63 हजार

टीचर एजुकेशन- 91.40 लाख

कस्तूरबा बालिका विद्यालय- 7 करोड़ 82 लाख

बेटियों के आत्मरक्षार्थ प्रशिक्षण- 1 लाख 26 हजार

दिव्यांग बच्चों की शिक्षा- 1 करोड़ 55 लाख

बुनियादी शिक्षा- 2 लाख 85 हजार

डैश- 12 लाख 46 हजार

प्रोग्राम मैनेजमेंट- 4 करोड़ 20 लाख

----------------------

कहते हैं अधिकारी

-समग्र शिक्षा अभियान के तहत जो भी राशि बजट में दी गई है, उससे जिले की शिक्षा व्यवस्था को मजबूत किया जाएगा। स्कूली बच्चों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा मिलेगी। शिक्षा के विकास के लिए भी कई कार्यक्रम किए जाएंगे।

सुरेश चौधरी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, नवादा।

Posted By: Jagran