पटना-रांची पथ पर रजौली के धर्नाजय नदी पर बना पुल जर्जर हो गया है। पुल के दोनों छोर पर बड़े-बड़े गड्ढे उभर आए हैं। लिहाजा यात्रियों की जान सांसत में रहती है। पुल से गुजरने के दौरान यात्री और वाहन चालक भगवान को याद करने लगते हैं। पुल की हालत इतनी खराब है कि यह कभी भी धंस सकता है और जानमाल की बड़ी क्षति हो सकती है। बावजूद इसे गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है।

गौरतलब है कि पटना-रांची पथ पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में यात्री और मालवाहक वाहनों का आवागमन होता है। पटना, रांची, नालंदा, कोलकाता, धनबाद सहित अन्य स्थानों तक जाने के लिए लोग इस मार्ग का प्रयोग करते हैं। रात में भी वाहनों का परिचालन होता है। वाहनों के पुल पर चढ़ते ही हिलने लगता है।

-----------------

कई बार हो चुके हैं हादसे

- जर्जर पुल के चलते पूर्व में कई बार हादसे हो चुके हैं। जिसके चलते जानमाल की क्षति हुई है। पुल की जर्जर स्थिति के चलते इस मार्ग पर सफर करने वाले यात्री अक्सर डरे-सहमे रहते हैं। लोगों का कहना है कि कई बार अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों का ध्यान आकृष्ट कराया गया। लेकिन अबतक पुल की मरम्मत नहीं हो सकी है।

------------------

एसडीओ ने विभाग को लिखा खत

- जर्जर पुल और सड़क के बाबत रजौली एसडीएम चंद्रशेखर आजाद ने राष्ट्रीय उच्च पथ के कार्यपालक अभियंता को खत लिखा है। उन्होंने अपने पत्र में जर्जर पुल के चलते होने वाली हादसों का जिक्र करते हुए इस पर ¨चता जाहिर की है। उन्होंने यह भी कहा है कि अगले महीने मैट्रिक की परीक्षा होने वाली है। साथ ही लोकसभा चुनाव का भी आगाज होने वाला है। ऐसी स्थिति में भीड़भाड़ अधिक बढ़ने की पूरी संभावना है। भीड़ और आपात स्थिति से निबटने के लिए पुल की उपयोगिता अहम हो जाती है। उन्होंने यथाशीघ्र जीर्ण-शीर्ण पुल और सड़क की मरम्मत कराने का अनुरोध किया है। साथ ही डीएम से भी आग्रह किया गया है कि वे अपने स्तर पर वरीय अधिकारी को इससे अवगत कराएं।

-------------------

कहते हैं ग्रामीण

- रजौली निवासी क¨वद्र कुमार कहते हैं कि बिहार-झारखंड की जोड़ने वाली इस पथ पर बने पुल की हालत जर्जर है। इससे बेहतर स्थिति तो ग्रामीण इलाकों के सड़कों की है। समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।

---------------

- संजय कुमार कहते हैं कि कुछ दिनों बाद मैट्रिक और इंटर की परीक्षा शुरु होने वाली है। रजौली में केंद्र रहने के चलते हजारों छात्र-छात्राएं यहां पहुंचते हैं। अविलंब जर्जर पुल की मरम्मत कराई जानी चाहिए, अन्यथा छात्र-छात्राओं को परेशानी होगी।

-------------------

कहते हैं अधिकारी

- सड़क और पुल की मरम्मत के लिए संबंधित विभाग को पत्र लिखा गया है। पुल और सड़क जीर्ण-शीर्ण अवस्था में है। प्रशासन इसे पूरी गंभीरता से ले रही है।

चंद्रशेखर आजाद, एसडीओ, रजौली

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप