थानाध्यक्ष राजकुमार ने रविवार की शाम भुटानी महिला पर्यटक को उसके पति जिनसे¨थग व भाई ¨चम¨सग हो को सौंपा। बताया जाता है कि 10 जनवरी की देर शाम भुटान का पर्यटक सुरक्षा को लेकर थाने में शरण मांगा। विदेशी पर्यटक होने के कारण थानाध्यक्ष ने उनलोगों को थाने में रहने की अनुमति दे दी। 12 की संख्या में विदेशी पर्यटक भुटान के भूथान शहर का रहने वाले थे। वे सभी बोधगया घुमने के लिए आए थे। राशि दोरजी के साथ आये थिम्बु की उनकी समधन जाओमासितो ने शनिवार की सुबह अपने समधी के साथ जाने से इनकार कर दिया। उन्होंने थानाध्यक्ष को बताया कि मेरा समधी मुझे मार देगा, मैं उनके साथ नहीं जाउंगी। थानाध्यक्ष ने शनिवार को महिला के पति से संपर्क किया तथा हिसुआ थाना आने को कहा। थानाध्यक्ष से मिले सूचना पर पति व भाई पहुंचे। महिला के पति व भाई के आने तक समधी व उनका दोस्त करमा थाने में महिला के साथ रहे। जबकि अन्य पर्यटक शनिवार को ही बोधगया के लिए रवाना हो गए। पुलिस द्वारा महिला को उसके पति को सौंपे जाने पर सभी बोधगया के लिए प्रस्थान कर गए।

Posted By: Jagran