नवादा। प्रखंड के ग्राम पंचायत ओहारी में मुखिया चुनाव हर बार सुर्खियों में रहा है। हर चुनाव में अलग-अलग वजह रहा है। इस बार का चुनाव सगे-संबधियों के कारण सुर्खियों में है। नाते-रिश्ते अपनी जगह जुनून समाजसेवा का जो ठहरा। एक ही परिवार के दो से तीन सदस्य एक ही पद के लिए यहां ताल ठोकते दिख रहे हैं। पति-पत्नी, मां-बेटा, चाचा-भतीजा, भैंसूर- भावज व देवर-भाभी भी चुनाव मैदान में आमने-सामने हैं। पूर्व मुखिया पचोहिया गांव निवासी आदेश्वर प्रसाद उर्फ अवधेश महतो, उनकी पत्नी निवर्तमान मुखिया अनीता देवी व माता असुनैना देवी तीनों चुनावी मैदान में है। वहीं ओहारी गांव के तपेश्वर प्रसाद ¨सह को घर से ही चुनौती है। इनका भतिजा ब्रजेश कुमार व बहू प्रीति कुमारी भी चुनाव मैदान में हैं। जबकि इसी गांव के पूर्व मुखिया गीता प्रसाद ¨सह के पुत्र मिथिलेश कुमार व इनकी छोटी बहू रंजू देवी भी आमने-सामने हैं। इसी पंचायत के पचम्बा गांव के मो. ग्यासउदीन व उनका पुत्र मो. शाहबाज भी चुनाव मैदान में एक दूसरे के खिलाफ हैं। एक और पूर्व मुखिया कृष्णदेव कुमार, संजीत कुमार व संजय कुमार सहित कुल चौदह उम्मीदवार यहां चुनावी मैदान में है। इस प्रकार ओहारी में सात परिवार के कुल चौदह लोग चुनाव मैदान में जनता को अपनी-अपनी ओर आकृष्ट करने में लगे हैं। अब देखना यह है कि इस बार जनता किसको अपनी हथेली पर बैठाती है और किसको दूध की मक्खी की तरह निकाल कर फेंक देती है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस