एक हत्या मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे बीमार कैदी की मौत बुधवार की रात इलाज के दौरान हो गई। मृतक कैदी रामलड्डू सिंह काशीचक थाना क्षेत्र के भागवतपुर गांव का रहने वाला था। नालंदा जिले के पावापुरी मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान कैदी ने दम तोड़ दिया। वह पिछले कई सालों से कई रोगों से ग्रस्त था।

बताया जाता है कि कैदी पांच अगस्त से 20 सितंबर तक पटना के पीएमसीएच में भर्ती था। तबीयत में सुधार होने पर उसे 21 सितंबर को वापस मंडल कारा लाया गया। बाद में पुन: तबीयत बिगड़ गई और सदर अस्पताल नवादा में भर्ती कराया गया। लेकिन स्थिति नहीं सुधरी। तीन अक्टूबर को उसे पावापुरी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। जहां वह इलाजरत था। बुधवार की रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। साथ रहे सुरक्षाकर्मियों ने इसकी सूचना जेल प्रशासन को दी। जिसके बाद शव को सदर अस्पताल नवादा लाया गया और पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया। 23 मार्च 2013 से वह जेल में बंद था।

-----------------

एक साल पूर्व भतीजे की हुई थी मौत

- उसी हत्या मामले में मृतक के सजायाफ्ता भतीजे अरविद कुमार की भी एक साल पहले मौत हो गई थी। वह लीवर की बीमारी से पीड़ित था। सदर अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हुई थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस