प्रखंड में प्रवासी मजदूरों के आने का सिलसिला जारी है। प्रखंड स्तरीय क्वारंटाइन सेंटर रुनीपुर मध्य विद्यालय में अबतक 67 प्रवासी मजदूर आ चुके हैं। 21 दिनों के लिए इन प्रवासी मजदूरों को रखने के साथ ही स्वास्थ्य जांच व भोजन आदि की व्यवस्था सरकारी स्तर पर की गई है। मंगलवार देर रात को गुजरात से कभी पैदल कभी ट्रक पर चलकर रजौली चेकपोस्ट पर ये लोग पहुंचे थे। सभी को गांव भेजने की बजाय क्वारंटाइन सेंटर पहुंचा दिया गया।

बीडीओ मोहम्मद नौशाद आलम सिद्दीकी ने बताया कि अब तक प्रखंड में संचालित क्वारंटाइन सेंटर पर कुल 67 मजदूर को ठहराया गया है। दूसरे प्रांतों से आने वाले मजदूरों के लिए अलग-अलग स्थानों पर चिह्नित किए गए स्कूलों में रखने की व्यवस्था की गई है। इसमें विश्वकर्मा इंटर विद्यालय हुड़राही, ब्लेस इंटरनेशनल स्कूल, मध्य विद्यालय माखर आदि कई स्कूलों में ठहरने की व्यवस्था की गई है। प्रवासी मजदूरों को रहने के लिए खाने की व्यवस्था, सोने की व्यवस्था, कपड़ा बदलने के लिए लूंगी और गमछा की व्यवस्था एवं कई तरह की सुविधा मुहैया कराई गई है। ताकि उन्हें कोई परेशानी नहीं हो।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस