हिसुआ विधायक अनिल सिंह ने बुधवार को कलेक्ट्रेट में डीएम यशपाल मीणा से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने छह थर्मल स्कैनर उन्हें दिए। मौके पर सिविल सर्जन विमल प्रसाद सिंह भी मौजूद थे। इस दौरान उन्होंने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए उठाए गए कदम के साथ लोगों की उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं पर विस्तार से चर्चा की। विधायक जिला प्रशासन की तैयारियों से संतुष्ट दिखे। उन्होंने डीएम से कुछ जरूरी मांग भी की। लॉकडाउन में हर जरूरतमंद को खाद्यान्न उपलब्ध कराने का सुझाव दिया। कहा कि जिनका राशन कार्ड नहीं है और वैसे लोगों को चिह्नित करते हुए अनाज उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाए। ताकि जिले में कोई भूखा न सोए। विधायक ने कहा कि अस्पताल में मास्क, सैनिटाइजर समेत कई सामग्री की व्यवस्था की जा रही है। अस्पताल से उसका वितरण किया जा रहा है। उस वितरण पर बारीकी से नजर रखी जाए और ब्योरा रखा जाए। अस्पताल पहुंचने वाले सभी लोगों को सैनिटाइज, मास्क दिया जाना चाहिए। विधायक ने कहा कि सैनिटाइज मशीन की खरीदारी के लिए पांच हजार रुपये आवंटित किए गए हैं। लेकिन अभी तक उसकी खरीदारी नहीं की जा सकी है। अविलंब सैनिटाइज मशीन की खरीदारी करते हुए पंचायत स्तर पर सैनिटाइजेशन कराया जाना चाहिए। क्वारंटाइन सेंटरों में समुचित प्रकाश की व्यवस्था की जानी चाहिए। कम से कम क्लस्टर बनाकर क्वारंटाइन सेंटर पर लाइट की व्यवस्था की जाए। कई पंचायत में मुखिया द्वारा वितरण में भेदभाव की शिकायतें मिल रही हैं। लिहाजा वितरण व्यवस्था की मॉनीटरिग हो। ताकि सरकारी लाभ सभी लोगों को मिल सके। इसके पूर्व भी विधायक पांच थर्मल स्कैनर सहित 20 हजार मास्क व सैनिटाइजर सिविल सर्जन को उपलब्ध करा चुके थे। मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष संजय कुमार मुन्ना, महामंत्री रामानुज कुमार उपस्थित थे। डीएम से मुलाकात के बाद विधायक ने अधिकारियों व आमजनों को मास्क भी वितरित किया।

-------------------------

किसानों की समस्या से कराया अवगत

- विधायक ने किसानों की समस्या से अवगत कराते हुए कहा कि कई जगहों पर गेहूं की फसल जलने की शिकायत मिल रही है। लिहाजा आपदा कोष से उसकी प्रतिपूर्ति की व्यवस्था की जाए। किसानों को फसल क्षतिपूर्ति का आकलन किसान सलाहकार व किसान समन्वयक द्वारा किया जा रहा है। ओटीपी नहीं डालने के कारण कई किसानों का आवेदन रिजेक्ट कर दिया गया है। फिर से ऐसे किसानों का आवेदन अपलोड कराया जाए। ताकि किसानों को फसल क्षतिपूर्ति का लाभ मिल सके।

-------------------------

पेयजल को लेकर कराया ध्यान आकृष्ट

- विधायक ने भीषण गर्मी पड़ने पर पानी की समस्या को लेकर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि पिछले कई सालों से गर्मी के मौसम में लोगों के समक्ष पेयजल की समस्या उत्पन्न हो जा रहा है। इसलिए पीएचईडी विभाग को तत्पर रहने की आवश्यकता है ताकि गर्मी पड़ने पर पानी की समस्या नहीं हो।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस