महज 72 घंटे के अंदर जिले में दूसरा कोरोना संक्रमित पाए जाने से हड़कंप मच गया है। दोनों का कनेक्शन आपस में होने की संभावना के बीच जिला प्रशासन हाई अलर्ट पर है। यही स्थिति रही तो यह चेन लंबी हो सकती है। ऐसे में इसे तोड़ने व आगामी परिस्थितियों से निपटने को रणनीति तैयार की जा रही है। हालांकि दूसरा पॉजिटिव केस कौन है, इसका स्पष्ट खुलासा होना बाकी है। शनिवार दोपहर कोरोना संक्रमित मिले व्यक्ति की उम्र 45 वर्ष बताई जा रही है।

सूत्र बता रहे हैं कि पहले संक्रमित पाए गए 38 वर्षीय नवादा नगर के युवक के चेन से ही यह शख्स भी जुड़ा है। हालांकि आठ अप्रैल की रात पहला मामला सामने आने के बाद से ही प्रशासन उस चेन को तोड़ने की कवायद में जुट गई थी। नवादा से लेकर हिसुआ व मेसकौर प्रखंड क्षेत्र के एक गांव तक प्रशासन पहुंचकर सभी जरूरी कदम उठा रही थी। इलाके को सैनिटाइज करना, संदिग्धों को क्वारंटाइन, होम क्वारंटाइन कराने का काम किया गया था। संपर्क में आने वाले स्वजनों, रिश्तेदारों, पड़ोसियों आदि के सैंपल भी लिए जा रहे थे। कई लोगों के सैंपल को जांच के लिए पटना भेजा भी गया। इस बीच एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। जैसे-जैसे सैंपल जांच की रिपोर्ट आएगी, संभावना बढ़ती जाएगी।

उल्लेखनीय है कि जिस पहले शख्स की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनका नाता दिल्ली के तब्लीगी जमातियों से रहा है। उनके साथ सफर करने वालों में मेसकौर प्रखंड क्षेत्र के भी एक शख्स थे। पहले शख्स का रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनकी पत्नी व तीन बच्चों को क्वारंटाइन किया गया था। सभी के सैंपल भी जांच के लिए भेजे गए हैं। आस-पड़ोस के 14 लोगों को चिह्नित किया गया था। साथ ही उनके साथ सफर करने मेसकौर इलाके के उस व्यक्ति को भी क्वारंटाइन कराया गया है। उनके घर के स्वजनों को होम क्वरांटाइन कराया गया था। पास-पड़ोस व साथियों के कुछ लोगों के सैंपल लिए गए थे। मेसकौर इलाके के जिन शख्स का नाता पहले पॉजिटिव केस से रहा है, आज की रिपोर्ट में पॉजिटिव पाए गए व्यक्ति वही हैं या कोई अन्य यह अब तक साफ नहीं हुआ है। अलबत्ता इतना ही सूचना मिल रही है कि दूसरे संक्रमित का पहले वाले से किसी न किसी रूप में कनेक्शन रहा है। फिलहाल, जिला प्रशासन के कोई अधिकारी कुछ भी इस मामले पर बोलने के लिए मीडिया के सामने नहीं आ रहे हैं।

------------------------

डीएम ने की बैठक

- जिले में दूसरा संक्रमित होने की पुष्टि के बाद डीएम यशपाल मीणा ने कलेक्ट्रेट में वरीय अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। संबंधित मरीज के निवास वाले इलाके को सील करते हुए सैनिटाइज कराने का निर्देश दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी पूरी तरह हरकत में आ गए हैं। संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान की जा रही है। ताकि उनके भी सैंपल की जांच कराई जा सके।

-----------------

मेसकौर पहुंचे कई वरीय अधिकारी

- कोरोना के दूसरा मरीज की पुष्टि होते ही कई वरीय अधिकारी मेसकौर प्रखंड मुख्यालय पहुंचे। रजौली एसडीएम चंद्रशेखर आजाद, एसडीपीओ संजय कुमार ने प्रखंड के अधिकारियों के साथ मंथन किया और आगे की कार्रवाई पर स्थानीय पदाधिकारियों के साथ चर्चा किया। जिले से स्वास्थ्य विभाग की एक टीम भी वहां पहुंच गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस