नालंदा । स्थानीय नालंदा कालेज व एसएस बालिका उच्च विद्यालय में रविवार को आयोजित सुपर 30 दक्षता परीक्षा में जिले के लगभग दो हजार छात्र-छात्राएं शामिल हुए। इस मौके पर जिले के प्रसिद्ध दंत चिकित्सक सह-राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित डॉ. धर्मेन्द्र कुमार ने कहा कि जिले के अधिकांश छात्र-छात्राएं जो परीक्षा में सम्मलित हुए वे गरीब किसान के मेधावी बच्चे हैं। इनकी शिक्षा के प्रति लग्नशीलता पूरे राज्य ही नहीं देश में लोहा मनवा रहा है। सुपर 30 के आनंद कुमार ने कहा कि उनके द्वारा संचालित दक्षता परीक्षा से छात्र-छात्राओं को अपनी दक्षता आंकने का मौका मिलेगा। ये छात्र-छात्राओं के लिए आगे की शिक्षा मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि इस परीक्षा में अव्वल आने वाले पहले से तीन छात्र-छात्राओं को विदेशों में शिक्षा ग्रहण करने का मौका मिलेगा। इसके अलावा अन्य छात्रों को भी भारत में ही टूर कराया जाएगा। इस अवसर पर परीक्षा संचालन में अहम भूमिका निभा रहे छात्र समागम जिलाध्यक्ष शशिकांत कुमार टोनी, ई. अली अहमद, अविनाश कुमार, राकेश कुमार, आशिष कुमार, शाहनवाज आलम, रिक्की कुमार, पिन्टू कुमार आदि ने अहम भूमिका निभाया। शशिकांत टोनी ने कहा कि यह परीक्षा महान गणितज्ञ आनंद सर व जागरूकता के निदेशक डा. धर्मेन्द्र कुमार के प्रयास से कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता में अव्वल आने वाले छात्र-छात्राओं को संभवत: सात सितम्बर को आनंद सर व डा. धर्मेन्द्र कुमार पुरस्कृत करेंगे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप