नालंदा। जिला केबुल निगरानी समिति की बैठक में जिला पदाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने कहा कि केबुल प्रसारण करने वालों पर जिला प्रशासन नजर रखेगा। इस मौके पर डिजिटलाइजेशन की प्रक्रिया की समीक्षा किया गया। डीएम ने कहा कि अगर कोई केबुल आपरेटर एनलॉग माध्यम से प्रसारण करते पाया गया, तो उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने ग्रामीण क्षेत्र के केबुल आपरेटरों को निर्देश दिया कि अपनी डिजिटलाजेशन एवं रजिस्ट्रेशन से संबंधी विवरणी शीघ्र जिला संपर्क कार्यालय में जमा कर दें। उन्होंने कहा कि 31 दिसंबर 2016 तक ग्रामीण इलाके के केबुल आपरेटर को सेट टॉप बाक्स लगाने की प्रक्रिया पूरी कर लेने का निर्देश दिया। बैठक में मौजूद निगरानी समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए डीएम ने कहा कि वे केबुल आपरेटरों के सभी प्रसारण पर नजर रखें। जहां कहीं भी नियम के विरुद्ध प्रसारण करते पाए जाएंगे, उस केबुल आपरेटर के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने सभी केबुल आपरेटरों को निर्देश दिया कि वे उसी का प्रसारण करें जिसकी अनुमति सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने दी है। केबुल आपरेटरों को प्राइवेट फिल्म या विज्ञापन का प्रसारण रोक लगाने का निर्देश दिया गया। इस मौके पर बैठक में एसपी विवेकानंद, जिला जन सपर्क पदाधिकारी लाल बाबू ¨सह, परियोजना प्रबंधक महिला हेल्प लाइन नेहा नुपूर, प्रो. श्रीकांत प्रसाद, प्रो. आशा किरण, डा. प्रवीण कुमार पुरंदरे व शैलेन्द्र कुमार आदि मौजूद थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस