बिहारशरीफ। शुक्रवार को बिहारशरीफ के नालंदा कालेज में राजगीर और इस्लामपुर पंचायत चुनाव की मतगणना के दौरान दोपहर बाद अचानक भारी भीड़ उमड़ पड़ी। पुलिस ने मतगणना केंद्र के आसपास लागू निषेधाज्ञा का हवाला देकर लोगों को हटने को कहा परंतु लोग नहीं माने। यह देख भीड़ को खदेड़ने के लिए मौके पर तैनात मजिस्ट्रेट के आदेश पर पुलिस ने भीड़ पर लाठीचार्ज कर दिया। जिससे कुछ देर के लिए भगदड़ मच गई। पिटाई से बचने के लिए भागने के दौरान कई लोग चोटिल हो गए।

दरअसल, अनुमंडल पदाधिकारी ने मतगणना केंद्र के बाहर सौ मीटर दायरे में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर रखी है। परंतु द्वितीय चरण की मतगणना से ही विभिन्न पदों के प्रत्याशियों के समर्थक मजमा लगाने से बाज नहीं आ रहे थे। अंतत: पुलिस को सख्त कदम उठाना पड़ा। लाठी चार्ज के बाद से मतगणना केंद्र के बाहर शांति है।

------------------------

कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह आठ बजे से शुरू हुई मतगणना

बिहारशरीफ। इस्लामपुर व राजगीर प्रखंड के कुल 28 पंचायतों की मतगणना शुक्रवार को नालंदा कालेज में सुबह 8 बजे से शुरू हो गयी। मतगणना की पूरी निगरानी सीसीटीवी व वरीय पदाधिकारियों के नेतृत्व में कराया गया। इस बीच प्रत्याशी व उनके प्रस्तावक को छोड़ किसी को भी मतगणना केन्द्र पर प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई थी। मतगणना केन्द्र के बाहर सुबह से ही लोग अपने-अपने पक्ष के समर्थकों का परिणाम जानने के लिए व्याकुल रहे।

-----------------------

अम्बेर चौराहा से कोर्ट गेट तक समर्थकों से पटी रही सड़क

पुलिस के चाक-चौबंद व्यवस्था के बावजूद अम्बेर चौक से लेकर कोर्ट गेट तक पूरी सड़क समर्थकों से पटी रही। इस बीच इस मार्ग से गुजरने के लिए लोगों को भारी मशक्कत करनी पड़ी। हालांकि सुरक्षा में तैनात सोहसराय थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद व पुलिस बल के जवान भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पूरे दिन मशक्कत करते देखे गए। लेकिन अधिक भीड़ होने के कारण लोगों पर काबू पाना मुश्किल हो रहा था।

Edited By: Jagran