संवाद सूत्र, गिरयिक : खाद कालाबाजारी को लेकर किसानों में व्याप्त गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा। आक्रोशित किसानों को हर दिन सड़क पर उतरना पड़ रहा है। सोमवार को रांची-पटना राष्ट्रीय राजमार्ग 20 स्थित गिरियक बाजार के समीप किसानों ने खाद की कालाबाजारी के विरोध में सड़क जाम किया । इससे इस मार्ग पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। आक्रोशित किसान सड़क पर बैठकर खाद दुकानदारों पर कालाबजारी का आरोप लगाते रहें। वहीं सड़क जाम की खबर मिलते ही पुलिस हरकत में आ गई। वहीं अधिकारियों ने किसानों को समस्या दूर कराने का भरोसा दिलाकर जाम हटवाया। दो माह से किसान खाद के लिए कर रहे संघर्ष

मालूम हो करीब दो माह से किसान खाद के लिए संघर्ष कर रहे हैं। बावजूद उन्हें खाद नहीं मिल रहा है। । आक्रोशित किसानों ने बताया कि खाद दुकानदार मनमानी कर रहा है। रात मैं खाद का ट्रक आया और सुबह जब वे लोग खाद लेने आएं तो दुकानदार खाद खत्म होने की बात कर उन्हें रवाना कर दिया। इससे परेशान किसानों का गुस्सा फूट पड़ा और लोग सड़क पर उतर आए। किसानों ने आरोप लगाया कि दुकानदारों द्वारा निर्धारित मूल्य से अधिक राशि की वसूल की जा रही है।

पर्यावरण के संतुलन को हर व्यक्ति को कम से कम एक पौधे लगाने को दिलाया गया शपथ

जागरण संवाददाता, बिहारशरीफ : यूनिटी इंटरनेशनल स्कूल' के प्रांगण में सोमवार को इनरव्हील की ओर से पौधारोपण सह वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आम, अमरूद, कदम, कटहल, जामुन आदि के 300 पौधे वितरित किए गए। इनर व्हील बिहार शरीफ के प्रोजेक्ट चेयरमैन सह यूनिटी इंटरनेशनल स्कूल' के प्रबंध निदेशिका डाक्टर कुमारी प्रीति रंजना ने सभी को पर्यावरण सुरक्षा के लिए शपथ दिलाई। प्रीति रंजना ने कहा कि हमें प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा करने के साथ-साथ पर्यावरण को स्वच्छ बनाये रखने के लिए अधिक से अधिक पौधे लगाने चाहिए। हम सभी को जीवन में पौधारोपण जरूर करना चाहिए। जिस तरह से लगातार पेड़ की कटाई हो रही है, इससे प्रकृति का संतुलन बिगड़ रहा है।

'विद्यालय के चेयरपर्सन डॉक्टर सुजीत कुमार ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवनकाल में पौधारोपण अवश्य करें। साथ ही पेड़ बनने तक उसकी देखभाल भी करें ताकि आने वाली पीढियों को हम हरा-भरा वातावरण विरासत के रूप में दे सकेंगे।

प्रधानाचार्य स्वर्ण किरण प्रसाद ने कहा कि मानव अपनी भौतिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए लगातार प्रकृति का दोहन कर रहा है। इससे प्रकृति में विकराल स्थिति पैदा हो रही है। बाढ़-भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदाएं भी प्रकृति के साथ छेड़छाड़ की वजह से होती है। इन आपदाओं से बचने के लिए हमें प्रकृति के संरक्षण पर जोर देना होगा। प्रोजेक्ट चेयरमैन माला सिन्हा ने कहा कि प्रकृति ने हमें जीवन निर्वाह करने के लिए अनेक सुंदर उपहार दिए है। उनमें से पेड़ हमारे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण उपहार है।प्रेसिडेंट मंजू प्रकाश ने सभी को शपथ दिलाई कि हमें अपने जन्म दिन तथा अन्य अवसर पर एक पौधा अवश्य लगाना चाहिए तथा इसकी देखभाल भी करनी चाहिए।

कार्यक्रम के दौरान विद्यालय के छात्रों में काफी उत्साह एवं हर्षोल्लास का माहौल देखा गया। इस पावन अवसर पर विद्यालय के विद्यार्थियों ने कहा कि हमलोग यह प्रण लेते है कि इन पौधों को अच्छी तरह देखभाल करेंगे । समय- समय पर जल एवं अन्य आवश्यक सामग्री देते रहेंगे।

मौके पर इनर व्हील के मंजू प्रकाश (प्रेसिडेंट), कुमारी रश्मि (सेक्रेटरी), मधु कंचन (क्कक्क), डॉ. कुमारी प्रिती रंजना (प्रोजेक्ट चेयरपर्सन), किरण कुमारी, रश्मि रानी (ढ्ढस्ह्र), अंजू प्रकाश तथा 'यूनिटी इंटरनेशनल स्कूल' के सहायक प्रबंधक सह निदेशक मुकेश कुमार सिन्हा तथा शिक्षक वृन्द , रीना सिंह, राणा रणजीत सिंह, ज्ञानेंद्र पांडेय,दीपक कुमार, सुदीप भट्टाचार्य, मोहम्मद अजहर, ओमप्रकाश, अतुल कुमार आलोक, तृप्ति कुमारी, स्नेहा कुमारी, अभिषेक कुमार, श्रुति सिंहा, सुनीता कुमारी,पीयूष कुमार मंडल एवं अकाउंटेंट सूरज कुमार, शैलेश कुमार, आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran